– छात्र-छात्राओं से कॉलेज प्रशासन ने मांगे सुझाव

नेशनल पीजी कॉलेज नए सेशन 2015-16 से अंडर ग्रेजुएट कोर्सेस की एग्जाम सिस्टम में परिवर्तन करने जा रहा है. इसके तहत यूजी में अब च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम (सीबीसीएस), मॉक्र्स के स्थान पर ग्रेड सिस्टम और क्वेशन पेपर में बहुविकल्पीय प्रश्नों को (एमसीक्यू) लागू किए जाने की तैयारी की है. यह जानकारी बुधवार को कॉलेज के प्राचार्य डॉ.एसपी सिंह ने दी.

स्टूडेंट्स ने सवालों का दिया जवाब:-

च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम लागू करने के सिलसिले में बुधवार को छात्र-छात्राओं एवं टीचर्स से विचार विमर्श के लिए बैठक का आयोजन किया गया. इस दौरान छात्र-छात्राओं ने एक मत से एग्जाम में आवश्यक सुधार एवं परिवर्तन का समर्थन किया. वहीं मूल्यांकन के लिए मॉक्र्स के स्थान पर ग्रेड प्रणाली पर छात्र-छात्राओं ने अलग-अलग मत प्रस्तुत किए. स्टूडेंट्स के ओर से पूछे गए सवालों के जवाब देते हुए प्राचार्य डॉ. सिंह ने कहा कि आज विकसित देशों में ही नहीं बल्कि हमारे देश में भी उच्च स्तरीय व्यवसायिक शिक्षण संस्थाओं में सीबीसीएस, ग्रेड प्रणाली और एमसीक्यू किसी न किसी रूप में बहुत पहले से लागू है. उन्होंने कहा कि आवश्यकता इस बात की है कि देश भर में इन प्रणालियों को लागू करने के लिए सर्वमान्य मानक तैयार किए जाए. इसके साथ ही एग्जाम में आवश्यक सुधार एवं परिवर्तन का एक उच्च स्तरीय एवं गंभीर व्यवस्था की आवश्यकता है.

यूजीसी ने भी दिया है आदेश:-

बतातें चलें कि यूनिवर्सिटी ग्रांट कमिशन (यूजीसी) ने सीबीसीएस और ग्रेड प्रणाली लागू किए जाने स बन्धी ऑर्डर यूनिवर्सिटी और डिग्री कॉलेजों को दिशा निर्देश जारी किए जा चुके हैं. आगामी शैक्षिक सत्र 2015-16 से उच्च शिक्षा में यूजी सहित सभी स्तरों पर सीबीसीएस$, ग्रेड प्रणाली एवं बहुविकल्पीय प्रश्नोत्तर प्रणाली (एमसीक्यू) लागू किया जाना है.

सात दिवसीय कार्यशाला 26 से:-

नेशनल पीजी कॉलेज में आगामी 26 फरवरी से ‘च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम एंड एग्जामिनेशन रिफार्मÓ विषय पर सात दिवसीय नेशनल वर्कशॉप का आयोजन किया जाएगा. सात दिनों तक चलने वाली वर्कशॉप में एग्जाम के विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से चर्चा की जाएगी.

national-pg-college-530900f999791_exl

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.