प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन के लिए होने वाली राज्य प्रवेश परीक्षा एसईई-2015 के फॉर्म इस मंथ केलास्ट तक जारी किए जाएंगे. इस पर अंतिम मुहर 18 फरवरी को होने वाले कैब की बैठक में लिया जाएगा. इस बार परीक्षा फॉर्म भरवाने में कॉलेजों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जा रही है. ल ानऊ समेत उत्तर प्रदेश टेक्निकल यूनिवर्सिटी यूपीटीयू से संबद्ध करीब 250 इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेजों में फॉर्म भरने की व्यवस्था की जाएगी. एसईई-2015 के कोऑडिनेटर प्रो. जेपी सैनी ने बताया कि छात्रों को कॉलेजों में एडमिशन लेने और उनका रूझान यूपीटीयू की ओर बढ़ाने के लिए आवेदन फॉर्म ारने में छात्रों की हेल्प करने के लिए कॉलेजों को जि मेदारी सौंपी जाएगी. पिछले साल ाी यूपीटीयू ने पूरे प्रदेश में 150 हेल्प सेंटर अपने वि िान्न कॉलेजों में बनाया था. इस बार इन हेल्प सेंटरों की सं या में बढ़ोत्तरी की जा सकती है.
250 कॉलेज बनेगे हेल्प सेंटर:-
यूपीटीयू के स बद्ध करीब सात सौ इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेजों के बीटेक, एमबीए व एमसीए समेत अन्य कोर्स की करीब दो लाख सीट पर एडमिशन होना है. इन स ाी सीटों पर एडमिशन काउंसिलिंग के माध्यम से किया जाता है. पर इसके बाद ाी यूपीटीयू की 80 प्रतिशत से अधिक सीटें ााली रह जाती है. जिसे बाद में स ाी कॉलेज डायरेक्ट एडमिशन के माध्यम से ारते है. पिछले साल कॉलेजों के प्रति स्टूडेंट्स का रूझान बढ़ाने के लिए यूपीटीयू ने अपने 150 कॉलेजों को हेल्प सेंटर के तौर पर स्थापित किया था. जहां पर एडमिशन फॉर्म ारने से लेकर काउंसिलिंग तक स ाी में स्टूडेंट्स की हेल्प की गई थी. इस बार ाी यूपीटीयू अपने 250 कॉलेजों को यह जि मेदारी सौपनें की तैयारी कर रहा है.
कॉलेज सेंटर पर मिलेगी सभी जानकारी :-
यूपीटीयू  से जुड़े करीब सात सौ कॉलेजों में एडमिशन के लिए होने वाली स्टेट एंट्रेंस एग्जाम में स्टूडेंट्स इन स ाी हेल्प सेंटर पर यूपीटीयू से संबंधित उन सभी बातों की जानकारी दी जाएगी जो वह जानना चाहते हैं. इस दौरान वह यूनिवर्सिटी से जुड़े संबद्ध सभी कॉलेजों की फीस, प्लेसमेंट व फैकेल्टी की जानकारी हासिल कर सकेंगे. इसके अलावा एसईई के फॉर्म भरवाने में सहयोग करने काउंसलिंग के दौरान स्टूडेंट्स के सहयोग इन सेंटर से किया जाएगा. 
” प्रवेश परीक्षा के फॉर्म ऑनलाइन जारी किए जाएंगे. स्टूडेंट्स से फॉर्म भरने में गलती न हो इसके लिए कॉलेजों को हेल्प डेस्क बनाया जा रहा है. इस बार चार लाख फॉर्म भरवाने का लक्ष्य है.”
प्रो. जेपी सैनी, कोऑडिनेटर, एसईई
सिटी में संडे को कुल 39 एग्जाम सेंटर पर टीजीटी एग्जाम आयोजित की गयी. एग्जाम में कुल 19 हजार कैंडीडेट्स को शामिल होना था. जिसमें औसतन 73 प्रतिशत कैंडीडेट्स ने हिस्सा लिया. यह जानकारी जिला विद्यालय निरीक्षक पीसी यादव ने दी. उन्होने बताया कि पहली पाली में आयोजित टीजीटी एग्जाम में कुल 10500 कैंडीडेट्स को एग्जाम में शामिल होना था. जिसके लिए कुल 21 एग्जाम सेंटर  बनाए गए थे. जिसमें से 7592 कैंडीडेट्स ने भाग लिया. पहली पाली में इतिहास, अर्थशास्त्र जीवविज्ञान सैन्य विज्ञान और गृह विज्ञान विषयों की एग्जाम आयोजित किया गया. वहीं दूसरी पाली में कुल 8500 कैंडीडेट्स को एग्जाम में शामिल होना था. जिसमें से 6230 कैंडीडेट्स ने भाग लिया. दूसरी पाली की 18 एग्जाम सेंटर पर एग्जाम आयोजित की गया. जिसमें हिंदी नागरिक शास्त्र, रसायन विज्ञान मनोविज्ञान, उर्दू, संगीत और कृषि की एग्जाम आयोजित किए गए.
SEE.UP.EXAM.160

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.