नयी दिल्ली एजेंसी। दिल्ली की राजनीति में नए अध्याय की शुरूआत करने वाले आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने आज छह अन्य मंत्रियों के साथ मुख्यमंत्री पद की शपथ ली और एक महत्वपूर्ण कदम के तहत अपने पास कोई भी विभाग नहीं रखने का फैसला किया। 70 सदस्ईय विधानसभा में आप द्वारा भाजपा और कांग्रेस को पूरी तरह शिकस्त देते हुए 67 सीटों पर जीत दर्ज किए जाने के चार दिन बाद केजरीवाल ने तकरीबन एक लाख से अधिक लोगों की मौजूदगी में ऐतिहासिक रामलीला मैदान में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इसी मैदान में अन्ना हजारे ने भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन छेड़ा था और यहीं से राजस्व सेवा के पूर्व अधिकारी राजनीति के मुख्य मंच पर आए थे। उपराज्यपाल नजीब जंग ने केजरीवाल तथा छह अन्य मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। इन छह मंत्रियों में मनीष सिसौदिया, आसिम अहमद खान, संदीप कुमार, सत्एन्द्र जैन, गोपाल राय और जितेन्द्र सिंह तोमर शामिल हैं। दिल्ली में दूसरी बार उनके मुख्यमंत्री का पद संभालने के कुछ ही देर बाद ऐलान किया गया कि मुख्यमंत्री कोई विभाग नहीं रखेंगे लेकिन सरकार के सारे कामकाज देखेंगे। रामलीला मैदान में शपथ ग्रहण के तुरंत बाद 46 वर्षीय केजरीवाल ने अपने संबोधन में अपनी सरकार की प्राथमिकताएं गिनाईं जिनमें भ्रष्टाचार और सांप्रदायिक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई , वीआईपी कल्चर को समाप्त करना शामिल है। इसके साथ ही उन्होंने दिल्लीवासियों से वादा किया कि उनकी सरकार राष्ट्रीय राजधानी को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिए संघर्ष करेगी। केजरीवाल ने साथ ही अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को अहंकार के प्रति सचेत करते हुए कहा कि यह अहंकार ही कांग्रेस और भाजपा की हार का कारण है जबकि भाजपा को नौ महीने पहले ही संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत मिला था।
 विधानसभा चुनाव में मिले जनादेश को ईश्वर का करिश्मा करार देते हुए केजरीवाल ने कहा, मुझे पता है कि दिल्ली के लोग मुझे प्यार करते हैं लेकिन ए नहीं पता था कि इतना ज्यादा प्यार करते हैं। आप को इस विधानसभा चुनाव में 70 में से 67 सीटें मिली हैं जबकि भाजपा के खाते में केवल तीन सीटें आई हैं। कांग्रेस का सूपड़ा ही साफ हो गया है। आप सरकार द्वारा दिल्ली को भारत का पहला भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बनाए जाने का आश्वासन देते हुए केजरीवाल ने कहा कि यदि कोई रिश्वत मांगे तो इंकार ना करें। सेटिंग कर लेना और वीडियो रिकार्ड कर लेना। वीडियो फुटेज को मुझे भेजें। मैं कार्रवाई करूंगा। 77 वर्षीय अन्ना हजारे द्वारा 2011 मेंं जन लोकपाल विधेयक के समर्थन में किए गए आंदोलन के दौरान सामने आए केजरीवाल ने लोगों को आश्वासन दिया कि उनकी सरकार जल्द ही इस विधेयक को लाएगी। उन्होंंने कहा, लोकपाल विधेयक बहुत महत्वपूर्ण है, इसे जल्द से जल्द पारित किए जाने की जरूरत है। दिल्ली में कल एक ईसाई स्कूल और हालिया दिनों में गिरिजाघरों पर हुए हमलों पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए उन्होंने कहा, हालिया दिनों में दिल्ली में कई सांप्रदायिक घटनाएं हुईं। हमने गिरिजाघरों को जलते देखा। मैं इन घटनाओं के लिए जिम्मेदार लोगों को चेतावनी देना चाहता हूं। उन्होंने कहा, मैं दिल्ली को एक ऐसी जगह बनाना चाहता हूं जहां सभी धर्मो के लोग सुरक्षित महसूस करें। उन्होंने साथ ही कहा कि सभी धर्माे, जातियों और वर्गो के लोगों ने आप को वोट दिया है।
केंद्र के साथ सहयोग और अच्छे संबंधों की इच्छा जाहिर करते हुए केजरीवाल ने कहा कि भाजपा ने दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का वादा किया था।  मुख्यमंत्री ने कहा, चुनाव से पूर्व, उन्होंने (भाजपा) दिल्ली की जनता से यह वादा किया था। केंद्र के लिए राज्य के शासन से जुड़े महत्वपूर्ण मुद्दों का ख्याल रखना संभव नहीं है। इसलिए मैं उम्मीद करता हूं कि केंद्र उनके इस वादे को पूरा करेगा। अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा, मुझे इन रिपोर्टो में अहंकार दिखता है जिनमें कहा गया है कि आप अन्य राज्यों में चुनाव लड़ेगी। हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम भावनाओं में बहकर अहंकारी न हो जाएं। गलत काम करने वाले किसी भी व्यक्ति को आप सरकार द्वारा माफ नहीं किए जाने पर जोर देते हुए केजरीवाल ने कहा, कुछ लोग आप कार्यकर्ता बनकर हमारी छवि को आहत करने का प्रयास कर सकते हैं। मैं बताना चाहता हूं कि गैर कानूनी गतिविधियों में शामिल होने वाले किसी भी व्यक्ति को कानून व्यवस्था मशीनरी बख्शेगी नहीं। अपने भाषण में केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वी रही भाजपा की किरण बेदी और कांग्रेस के अजय माकन का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, मैं किरण बेदी का सम्मान करता हूं। वह मेरी बड़ी बहन जैसी हैं। प्रशासन में उन्हें अच्छा अनुभव है। मुझे उनकी सलाह की जरूरत है। मैं अजय माकन के साथ भी सहयोग करूंगा। मैं दिल्ली को एक आदर्श राज्य बनाने के लिए हर किसी को साथ लेकर चलूंगा। भारत माता की जय के साथ अपने भाषण की शुरूआत करने वाले केजरीवाल ने अपने करीब आधे घंटे के भाषण का समापन ‘आप’ के गीत ‘इंसान का इंसान से हो भाईचारा’  से किया।
nazeebkejri14(1)

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.