आंध्र प्रदेश में हुए उपचुनाव में परचम लहराने वाली वाईएसआर कांग्रेस पार्टी (वाईएसआरसीपी) के विधायकों ने शनिवार को चंचलगुडा केंद्रीय कारागार जाकर पार्टी प्रमुख वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी से मुलाकात की। नवनिर्वाचित विधायक राज्य के विभिन्न जिलों से आकर हैदराबाद में एक जगह एकत्र हुए और फिर जेल में बंद जगन से मिलने गए। जगन इस समय अवैध सम्पत्ति मामले में न्यायिक हिरासत में हैं।विधायकों में शामिल बी. श्रीनिवास रेड्डी, गुरुनाथ रेड्डी, शुचारिता, चेन्ना केशव रेड्डी, अमरनाथ रेड्डी एवं अन्य ने जगन से मुलाकात की और उनके साथ लगभग आधा घंटा बिताया।
केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने जगन को 27 मई को गिरफ्तार किया था।
जगन ने नवनिर्वाचित विधायकों को धन्यवाद दिया और उन्हें लोगों की समस्याओं का समाधान करने में हमेशा आगे रहने और जनता के सम्पर्क में रहने के लिए कहा।बाद में संवाददाताओं से बातचीत में विधायकों ने कहा कि उपचुनाव में पार्टी के विलक्षण प्रदर्शन से लोगों में खुशी है, वे राज्य में वैसा शासन चाहते हैं जैसा वाईएसआर (वाई.एस. राजशेखर रेड्डी) के समय में था।

आंध्र प्रदेश में जगनमोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने कांग्रेस को तगड़ा झटका देते हुए 13 सीटों पर जीत दर्ज की है। जगनमोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने विरोधियों को रौंदते हुए राज्य में 18 सीटों पर हुए उपचुनाव में पर जीत दर्ज15 सीटों की है। वाईएसआर कांग्रेस पार्टी की उम्मीदवार मेकापति राजामोहन रेड्डी लोकसभा सीट नेल्लोर पर बढ़त बनाए हुए हैं। मेकापति 50 हजार से ज्यादा वोटों से आगे हैं। इस बीच सत्ताधारी कांग्रेसो को सिर्फ एक ही सीट पर विजयश्री हासिल हुई है जो कि नरसापुरम है। दो सीटों पर तेलंगाना राष्ट्रीय समिती (टीआरएस) और तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) के उम्मीदवार आगे चल रहे हैं।

वाईएसआर कांग्रेस ने जिन सीटों पर जीत हासिल की है उनमें पोलावरम, प्रतिपाडु, मछेरला, येम्मीगनौर, अल्लागडा, राजामपेट, रायाचोटी और रेलवे कोडुर की सीटे हैं। कांग्रेस के लिए यह परिणाम बड़ी चिंता लेकर आए हैं। बता दें कि एक सांसद के इस्तीफा देने व कांग्रेस के 17 बागी विधायकों को अयोग्य घोषित किए जाने के बाद यहां उपचुनाव कराना पड़ा। तिरुपति विधानसभा सीट अभिनेता से राजनेता बने चिरंजीवी के राज्यसभा में जाने के बाद खाली हो गई थी।

10 सीटों पर कांग्रेस की जमानत रद्द हो गई है। आंध्र में एक लोकसभा सीट और 18 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे। पोलावरम, प्रतिपाडू, मछेरला, येम्मीगनौर, अल्लागडा, राजामपेट, रायाचोटी, रेलवे कोडुर सीटें वाईएसआर कांग्रेस ने कब्जा किया। वहीं कांग्रेस ने एक नरसापुरम सीट जीती है। गौरतलब है कि आय से अधिक संपत्ति के मामले में जेल में बंद जगनमोहन रेड्डी फिलहाल जेल में बंद हैं। वोटों की गिनती शुक्रवार सुबह कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच शुरू हो गई। काउंटिंग 12 जिलों के 13 केंद्रों पर हो रही है। इन केंद्रों पर नौ हजार सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। मतदान 12 जून को हुआ था। 18 में से 16 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव इसलिए जरूरी हो गया था, क्योंकि वाईएसआर कांग्रेस के प्रमुख जगनमोहन रेड्डी के प्रति वफादारी जताने के लिए दिसंबर में एक अविश्वास प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस सरकार के खिलाफ मतदान करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष ने इन विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया था। राज्यसभा के लिए चुने जाने पर ऐक्टर से राजनीतिज्ञ बने चिरंजीवी के इस्तीफा देने के कारण एक विधानसभा सीट खाली हुई थी। नेल्लोर लोकसभा सीट पर जगन के समर्थन में कांग्रेस सांसद के इस्तीफा देने के कारण उपचुनाव कराना पड़ा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.