पाचन प्रणाली से संबंधित समस्याओं से हम सब कभी न कभी पीड़ित होते ही हैं। अक्सर अपच के कारण हमें फूले हुए पेट जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है। यह समस्या काफी असुखद तथा अत्यधिक तनाव देने वाली होती है। आइए जानें पेट में पैदा होने वाली गैस और इसके उपचार के बारे में

पेट गैस बढऩे के कारण
चाय या कॉफी:- यह गैस का सबसे आम कारण है। चाय के साथ उबाला गया दूध आंतड़ी की लाइनिंग में जलन और गैसयुक्त तत्व पैदा करता है। कॉफी में एसिडिक पी.एच. होता है जो गैस पैदा करता है। जैसे ही आप इसमें दूध डालते हैं समस्या गहरी हो जाती है।

खाली पेट होना:- हमारी आंतडिय़ां तब भी काम कर रही होती हैं जब हमारे पेट में बिल्कुल भोजन नहीं होता। आंतडिय़ां असंख्य स्वस्थ तथा अस्वस्थ बैक्टीरिया का घर होती हैं और गैस पैदा करती हैं। पेट पाचन के लिए एसिड पैदा करता है। जब हम लम्बे समय तक भूखे रहते हैं तो पेट का एसिड तथा आंतडिय़ों की मथने की प्रक्रिया से अतिरिक्त गैस पैदा होती है।

गैस पैदा करने वाले खाद्यों का सेवन:- राजमा, सफेद चने, फूल गोभी, हरी गोभी, अधिकतर सूखी फलियां तथा भारी दालें अक्सर गैस का कारण बनती हैं।

गलत खाद्य मिश्रण:- जब हम अस्वस्थक मिश्रणों में भोजन करते हैं तो गैस पैदा होती है। उदाहरण के लिए खाने के बाद तरबूज का सेवन गैस पैदा करता है। अधिक तेजी से खाना भी गैस पैदा होने का कारण होता है।

तुरंत राहत के उपाय
अदरक:- अदरक का एक टुकड़ा चबाएं और फिर गर्म पानी का एक कप पीएं। ऐसा भी कर सकती हैं कि अदरक को पानी में उबाल कर काढ़ा तैयार करें और इसे पीएं।

मिंट टी:- मिंट तथा पैपरमिंट में एक विशिष्ट तत्व होता है जो आंतडिय़ों को राहत देता है तथा जमा गैस निकल जाती है।

मेथी के बीज:- पानी तथा मेथी बीजों से तैयार काढ़ा काफी लाभदायक साबित होता है।

काला नमक:- गर्म पानी में थोड़ा सा काला नमक मिलाएं तथा इसे पी जाएं।

दीर्घकालिक उपचार
– लम्बे समय तक खाने से परहेज न रखें।
– पेट में स्वस्थकर बैक्टीरिया पैदा करने के लिए प्रोबायोटिक्स पीएं। यदि आप लैक्टोज के प्रति असहनशील हैं तो एंजाइम्स लें।
– एक महीने तक रोज रात को आधा छोटा चम्मच त्रिफला पाऊडर के साथ एलोवेरा जूस पीने से लाभ मिलता है।
– कसरत, सैर करें, खेलें। इस बात को यकीनी बनाएं कि आप सक्रिय रहें।
– यदि तनाव में हों तो गहरी सांसें लें।qqq

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.