कांग्रेस सदस्य तुलसी गबार्ड और कांग्रेस में ही उनके सहयोगी डॉक्टर एमी बेरा ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए शपथ ग्रहण की है। अमेरिका की पहली हिन्दू सांसद गबार्ड ने कल अमेरिकी कांग्रेस के 114वें सत्र के शुरू होने के साथ गीता को साक्षी मानकर अपनी शपथ ग्रहण की। उन्हें प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष जॉन बोहनर ने पद की शपथ दिलाई।

दो साल पहले भी उन्होंने गीता को साक्षी मानकर शपथ ली थी। गीता की इस प्रति को उन्होंने गत सितंबर में न्यूयॉर्क में मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भेंट किया था। हाल ही में दो सप्ताह के भारत दौरे के बाद अमेरिकी लौटीं, हवाई से डेमोकेट्रिक सांसद गबार्ड ने कहा था कि उनका भारत दौरा बेहद सफल रहा। भारत में उन्होंने मोदी और शीर्ष भारतीय नेतृत्व से मुलाकात की थी।

वर्तमान कांग्रेस में सेवारत एकमात्र भारतीय अमेरिकी बेरा प्रतिनिधि सभा में भारत एवं भारतीय अमेरिकियों के कांग्रेसनल कॉकस के सह अध्यक्ष के रूप में निर्वाचित हुए हैं। दलीप सिंह थिंड और बॉबी जिन्दल के बाद बेरा प्रतिनिधि सभा में निर्वाचित होने वाले तीसरे भारतीय-अमेरिकी हैं।

बेरा ने कहा, मैं अगले दो वर्षों में दोनों दलों के अपने सहकर्मियों के साथ मिलकर काम करने की उम्मीद करता हूं, साथ मिलकर काम करना ही एकमात्र रास्ता है जिससे हम अपने देश को आगे बढ़ा सकते हैं। उन्होंने कहा, हमें एक ऐसी अर्थव्यवस्था के पुनर्निर्माण से शुरुआत करने की जरूरत है जो मध्यम वर्ग के लिए काम करे, जिम्मेदार बजट के साथ हमारे ऋण को नियंत्रण में लाए, और सामाजिक सुरक्षा तथा वर्तमान एवं भविष्य की पीढ़ी के लिए चिकित्सा देखभाल प्रणाली को मजबूत करे, और मैं इस कांग्रेस में उन्हें अपनी शीर्ष प्राथमिकताएं बनाउंगा।

बेरा विदेश मामलों और विज्ञान, अंतरिक्ष एवं प्रौद्योगिकी से संबंधित सदन समितियों में तथा समस्या समाधानकर्ता गुट के नेता के रूप में काम करना जारी रखेंगे। हाल ही में दो हफ्ते की अपनी भारत यात्रा से लौटीं गबार्ड ने कहा कि उनकी यात्रा अत्यंत सफल रही। इस यात्रा के दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा शीर्ष भारतीय नेतृत्व से मुलाकात की। गबार्ड ने कहा कि मुझे लगता है कि यात्रा एक बड़ी सफलता थी।

 

tulshi

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.