नौकरी बाजार के लिए 2015 एक शानदार साल साबित हो सकता है, क्योंकि भारतीय कंपनियों ने करीब 10 लाख नई नौकरियों का सृजन करने एवं सर्वोत्तम निष्पादन करने वाले कर्मचारियों की पगार 40 प्रतिशत तक बढ़ाने की योजना बनाई है। औसत वृद्धि भी 15 से 20 प्रतिशत के दायरे में रह सकती है, जबकि 2014 के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत कर्मचारियों की तनख्वाह 10.12 प्रतिशत बढ़ाई गई थी। ई-कॉमर्स जैसे नए क्षेत्रों में वेतन वृद्धि अपेक्षाकृत अधिक रहने की संभावना है।

विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले दो साल के दौरान जीडीपी वृद्धि दर पांच प्रतिशत से नीचे रहने के  बाद चालू वित्त वर्ष में इसके करीब 5.5 प्रतिशत रहने की उम्मीद है। इससे नौकरी के बाजार में भी  तेजी का रुख रहने की संभावना है। मानव संसाधन विशेषज्ञों का मानना है कि 2015 में नौकरी का बाजार काफी मजबूत रहने जा रहा है,  क्योंकि कंपनियों ने आक्रामक ढंग से नई नियुक्तियां करने की तैयारी की है।
employeeइसके अलावा बड़ी संख्या में बहुराष्ट्रीय कंपनियों द्वारा भारत में अपनी इकाइयां लगाए जाने की संभावना है जिससे विभिन्न स्तरों पर रोजगार के अवसरों का सृजन होगा। माईहाइरिंगक्लब डॉट काम के मुताबिक 2015 नौकरी तलाशने वालों के लिए सकारात्मक बदलाव की  लहर लाने वाला है और इस दौरान विभिन्न क्षेत्रों में 9.5 लाख नई नौकरियों का सृजन होगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.