आम आदमी पार्टी ने खुलासा किया हैं कि दिल्ली में वोटरों की संख्या ज्यादातर फर्जी हैं। पार्टी ने दावा किया कि दिल्ली में करीब चार लाख फर्जी वोटर हैं, जिनके पास एक से ज्यादा वोटर आईडी हैं। इतना ही नहीं 14,71,025 वोटर ऐसे भी हैं, जिनके  नाम हरियाणा आर यूपी की वोटर लिस्ट में भी हैं।

इन वोटरों के नाम, फोटो, उम्र और जेंडर में कोई फर्क नहीं है। इसके अलावा 3,96,914 लोगों के पास एक से ज्यादा वोटर आईडी हैं। पार्टी नेताओं के मुताबिक पिछले एक महीने में करीब डेढ लाख लोगों ने नए वोटर आईडी बनवाने के लिए ऑनलाइन आवदेन दिया है। पार्टी का दावा है कि इनमें से ज्यादातर आवेदन फर्जी हैं। पार्टी ने मांग की है कि इन सभी आवेदनों की फिजिकल जांच करने और पूरे वेरिफिकेशन के बाद ही इन लोगों के वोटर आईडी बनाए जाएं।

पार्टी के सुप्रिमों अरविंद केजरीवाल ने सवाल किया कि वोटर लिस्ट में इतने बड़े पैमाने पर हो रहे घपले से क्या दिल्ली में स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव संभव है? केजरीवाल ने कहा कि पांच जनवरी से आयोग ने मतदाता सूची में नाम जोडऩे व अवैध नाम छांटने की प्रक्रिया शुरू की है। इस दौरान आप की तरफ से दिए गए ठोस प्रमाणों की जांच करते हुए फर्जी वोटर को लिस्ट से बाहर निकाला जाए।

पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को मुख्य निर्वाचन आयुक्त व दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को लिखित शिकायत देकर मामले की जांच कराने और आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। पार्टी ने इनके नाम वोटर लिस्ट से हटाने की मांग की है। चीफ इलेक्शन कमिश्नर और दिल्ली के सीईओ ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि इसकी गंभीरता से छानबीन की जाएगी और अगर कोई चुनाव अधिकारी इसमें लिप्त पाया जाता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

पार्टी ने अपने आरोपों की पुष्टि के लिए एक सीडी चुनाव आयोग को सौंपी है। अरविंद केजरीवाल व अन्य पार्टी नेताओं ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए सही वोटर लिस्ट तैयार करना सबसे जरूरी काम है, लेकिन दिल्ली की नई वोटर लिस्ट में गंभीर खामियां हैं। पार्टी नेताओं का दावा है कि दिल्ली की वोटर लिस्ट में बडी तादाद में ऐसे लोग भी हैं, जिनके नाम हरियाणा की वोटर लिस्ट में शामिल हैं।KejriwalInterview

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.