भारतीय मूल के अमेरिकी अर्थशास्त्री अरविंद पनगढ़िया ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा नवगठित नीति आयोग के पहले उपाध्यक्ष के तौर पर नियुक्त किए जाने से सम्मानित महसूस कर रहे हैं। यह संस्था 65 साल पुराने योजना आयोग की जगह लेगी।

कोलंबिया विश्वविद्यालय द्वारा कल यहां जारी एक बयान में पनगढ़िया के हवाले से कहा गया है, मैं इस नियुक्ति से सम्मानित महसूस कर रहा हूं और मैं प्रधानमंत्री मोदी और भारत के नीतिनिर्माताओं के साथ काम करने के इंतजार में हूं। पनगढ़िया इस
विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर है। वह नीति आयोग में कार्यकरने के लिए विश्वविद्यालय से अवकाश लेंगे।

बयान के मुताबिक 62 वर्षीय प्रोफेसर ने कहा है कि उन्हें उम्मीद है कि जब भी मौका मिलेगा वह कोलंबिया विश्वद्यालय के अंतरराष्ट्रीय एवं लोककार्य विभाग से सम्पर्क  में रहेंगे और अपना नये काम के पूरा होने के बाद विश्वविद्यालय से पुन: जुड़ जाएंगे। वह केंद्रीय मंत्री के दर्जे के साथ प्रधानमंत्री मोदी के साथ मिलकर काम करेंगे। मोदी संस्था के अध्यक्ष होंगे।

मोदी के गुजरात माडल के समर्थक रहे पनगढ़िया ने भाजपा के नेतत्ववाली सरकार के बनने के बाद कहा था कि वह चाहते हैं कि यह सरकार को पहले बजट में उंचे राजकोषीय घाटे का जोखिम उठाते हुए पूंजी व्यय बढाना चाहिए।kkkkkkkkkkkkkk

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.