शिवसेना आखिर मान ही गई। एक माह से भी अधिक समय से चली आ रही सियासी उठा-पटक के बाद शिवसेना अब महाराष्ट्र की भाजपा सरकार में शामिल होने जा रही है। कल मातोश्री से यह संदेश प्राप्त हुआ है कि उनकी पार्टी बिना उप मुख्यमंत्री और गृह मंत्री मिले भी तो सरकार में शामिल होगी।

सूत्रों के अनुसार बताया गया है कि शिवसेना को पब्लिक वर्क्स, ऊर्जा और जल संसाधन मंत्रालय दिए जाने की संभावना जताई गई है। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से बीती रात बात करने वाले वरिष्ठ शिवसेना नेता सुभाष देसाई ने बताया, ”भाजपा और शिवसेना नेताओं के बीच बातचीत पूरी हो गई है।”

फडणवीस ने देर रात हुई मीटिंग के बाद कहा, ”चर्चा आखिरी फेश में है और यह पॅाजिटिव ढंग से हुई। शिवसेना के साथ एक या दो मामलों पर निर्णय लंबित है।” उन्होंने कल कहा था, ”हम सही दिशा में बढ़ रहे हैं। आज हमारी बातचीत पूरी हो गई है।

siv sena bjp

शिवसेना ने आज कहा कि सत्ता साझेदारी को लेकर भाजपा के साथ बातचीत आज भी जारी रहेगी. यह बयान इन संकेतों के बीच आया है कि अलग हुए दोनों सहयोगी दल मंत्री पदों को लेकर एक महीने तक चले गतिरोध के बाद समझौते पर पहुंचने के करीब हैं.

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से बीती रात बात करने वाले वरिष्ठ शिवसेना नेता सुभाष देसाई ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘‘भाजपा और शिवसेना नेताओं के बीच बातचीत आज जारी रहेगी.’’ देसाई ने आज होने वाली बातचीत के समय और स्थान के बारे में बताने से इनकार किया.
ऐसी खबरें हैं कि उप मुख्यमंत्री पद और गृह मंत्रालय मांग रही शिवसेना ने अपना सुर धीमा कर लिया है और वह अन्य मंत्रि पदों पर सहमत हो गई है, लेकिन दोनों तरफ से किसी ने भी इस बारे में कोई पुष्टि नहीं की है. दोनों दलों के वरिष्ठ नेताओं के बीच मुख्यमंत्री के आधिकारिक निवास वर्षा में बैठक हुई थी. फडणवीस ने बीती रात हुई बैठक के बाद कहा, ‘‘चर्चा अंतिम चरण में है और यह सकारात्मक ढंग से हुई. शिवसेना के साथ एक या दो मुद्दों पर निर्णय लंबित है.’’
उन्होंने कल कहा था, ‘‘हम सही दिशा में बढ रहे हैं. हम कह सकते हैं कि 70 से 80 प्रतिशत बातचीत पूरी हो चुकी है जहां दोनों दल सहमत हुए हैं. कुछ मुद्दे रहते हैं जिन पर हम अब भी चर्चा कर रहे हैं.’’  शिवसेना के एक नेता ने नाम उजागर नहीं करने की शर्त पर बीती रात कहा था, ‘‘एक मंत्रालय  को छोडकर बातचीत लगभग सकारात्मक निष्कर्ष पर पहुंच चुकी है.’’  बहरहाल, उन्होंने इस मंत्रालय  का नाम नहीं बताया था.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.