हरियाणा के इतिहास में पहली बार सबसे अधिक 13 महिला उम्मीदवारों ने विधानसभा चुनाव-2014 में जीत दर्ज की है। विधानसभा चुनाव-2014 में 90 सीटों के लिए 116 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी।

हरियाणा विधानसभा चुनाव-2014 में सर्वाधिक भारतीय जनता पार्टी की 8 महिला उम्मीदवारों ने अपनी जीत दर्ज की है, वहीं कांग्रेस की तीन और इडियन नैशनल लोक दल और हरियाणा जन हित कांग्रेस की एक-एक महिला उम्मीदवार ने विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज की है।
इन चुनी हुई महिला उम्मीदवारों में जो विधायक दोबारा चुनी गई हैं, उनमें  दो पूर्व  मंत्री नामत: भुक्कल और किरण चौधरी शामिल हैं। वहीं, रेणुका विश्नोई, शकुंतला खटक, संतोष चौहान सारवान और कविता जैन शामिल हैं, जो दोबारा चुनकर आई हैं। इसके अलावा, विधानसभा चुनाव 2014 में जिन महिला उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है, उनमें संतोष यादव, सीमा तिरखा, नैना सिंह चौटाला, लतिका शर्मा, रोहिता रेवड़ी, बिमला चौधरी और प्रेम लता शामिल हैं।

इससे पहले वर्ष 1996 के विधानसभा चुनावों में 93 महिला उम्मीदवार चुनाव में थी, जिनमें से चार महिला उम्मीदवारों को चुना गया था। इसके पश्चात वर्ष 2005 के विधानसभा चुनावों में 68 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से 11 महिला उम्मीदवार चुनी गईं। इसी प्रकार, वर्ष 2000 के विधानसभा चुनाव में 49 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से चार उम्मीदवार चुनी गई।

वर्ष 1991 के विधानसभा चुनावों में 41 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से 6 महिला उम्मीदवार विधायक चुनी गई। इसी प्रकार, वर्ष 1987 में 35 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से 5 महिला उम्मीदवार विधायक चुनी गई। वर्ष 1982 में 27 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से 7 महिला उम्मीदवार विधाय

क चुनी गई। वर्ष 1977 में 20 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से 4 महिला उम्मीदवार विधायक चुनी गई। वर्ष 1972 में 12 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से 4 महिला उम्मीदवार विधायक चुनी गई। वर्ष 1968 में 12 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से 7 महिला उम्मीदवार विधायक चुनी गई और राज्य गठित होने के पश्चात प्रथम विधानसभा चुनाव-1967 में 8 महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी, जिनमें से 4 महिला उम्मीदवार विधायक चुनी गई।

वर्ष 2014 के विधानसभा चुनावों में जो महिला उम्मीदवार चुनाव मैदान में थी उनमें कांग्रेस की 10, इनेलो की 16, भारतीय जनता पार्टी की 15, हरियाणा जन हित कांग्रेस (बीएल) की पांच और बीएसपी की छ: महिला उम्मीदवार शामिल हैं। इसी प्रकार, हरियाणा लोक हित पार्टी की 12, हरियाणा जन चेतना पार्टी की चार, समस्त भारतीय पार्टी की पांच, भारतीय संत मत पार्टी की दो, हरियाणा Rांति दल की दो और सर्वजन समाज पार्टी (नन्द किशोर चावला) की दो महिला उम्मीदवार शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, शिरोमणी अकाली दल (अमृतसर सिमरनजीत सिंह मान), राष्टद्द्रवादी परिवर्तन पार्टी एलबी, राष्ट्रीय गरीब दल और भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी (मार्क्सवादी) की एक-एक महिला उम्मीदवार विधानसभा चुनाव मैदान में थी।
वर्ष 2014 में महिलाओं को जो मत मिले उसके अनुसार पानीपत शहर की बीजेपी की महिला उम्मीदवार रोहिता रेवड़ी को सर्वाधिक 63.5 प्रतिशत मत मिले, वहीं मुलाना विधानसभा से जीत दर्ज करने वाली महिला उम्मीदवार बीजेपी की ही संतोष चौहान सारवान को 30.3 प्रतिशत सबसे कम मत प्राप्त हुए।indexee

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.