बढ़ती महंगाई को लेकर संसद के बजट सत्र में विपक्ष के निशाने पर आई सरकार ने सोमवार को राज्यसभा में कहा कि खाद्य वस्तुओं की कीमतें नियंत्रण में हैं और घबराने की कोई जरूरत नहीं है.
साथ ही राजग सरकार ने मूल्यवृद्धि की मौजूदा स्थिति के लिए पूर्ववर्ती संप्रग सरकार को जिम्मेदार ठहराया.

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने महंगाई के मुद्दे पर राज्यसभा में हुई चर्चा के जवाब में खाद्य वस्तुओं की कीमतों की मौजूदा स्थिति और रेल यात्री किरायों एवं माल भाड़े में हाल में हुई बढ़ोत्तरी के लिए पूर्ववर्ती संप्रग सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि उनकी सरकार को यह ‘‘विरासत’’ में मिली है.

चर्चा के दौरान कांग्रेस, बसपा, सपा एवं तृणमूल कांगेस ने राजग के चुनावी नारे ‘‘अच्छे दिन’’ का मजाक बनाते हुए कहा कि प्याज एवं आलू जैसी खाद्य वस्तुओं के दाम में वृद्धि और रेल किरायों एवं भाड़े में बढ़ोत्तरी, डीजल दरों में इजाफे में क्या इसकी झलक मिलती है.

जेटली ने कहा कि 41 दिन पुरानी नरेंद्र मोदी सरकार ने खाद्य कीमतों को नियंत्रित रखने के लिए फौरन कदम उठाये जबकि पूर्ववर्ती सरकार ने खाद्य वस्तुओं में मूल्यवृद्धि को रोकने के लिए कुछ नहीं किया और प्याज के दाम 100 रुपये प्रति किलो ग्राम तक चढ़ गये.arun jetly

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.