rajnathतेलंगाना और आंध्र प्रदेश के प्रशासनों के बीच खींचतान की खबरों से चिंतित गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज केंद्रीय गृह सचिव को दोनों राज्यों के बीच मध्यस्थता करने और मुद्दों को सुलझाने का निर्देश दिया। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि गृह मंत्री का हस्तक्षेप उन रिपोर्टों के बाद हुआ है कि दोनों राज्यों के बीच पेयजल और सिंचाई के लिए पानी, बिजली की आपूर्ति और नगरपालिका मामलों सहित कई मुद्दों पर कथित तौर पर खींचतान चल रही है।
गृह मंत्री ने केंद्रीय गृह सचिव अनिल गोस्वामी से तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के बीच के मतभेदों को सौहार्र्दपूर्ण तरीके से हल करने के लिए दोनों राज्यों के मुख्य सचिवों की बैठक यथाशीघ्र बुलाने को कहा है। आंध्र प्रदेश के विभाजन के बाद दो जून को अलग तेलंगाना राज्य के औपचारिक रूप से अस्तित्व में आने के बाद दोनों राज्य संपत्ति के वितरण तथा आईएएस, आईपीएस, भारतीय वन सेवा जैसी अखिल भारतीय सेवाओं के अधिकारियों के आवंटन पर विचार कर रहे हैं। तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के बीच केंद्र सरकार के उस फैसले को लेकर भी मतभेद है जिसमें पोलावरम परियोजना के तहत भद्राचलम के सात मंडलों को आंध्र प्रदेश के खम्मम जिले में शामिल किया गया है। सूत्रों ने कहा कि केंद्र की चिंता प्रशासनों के बीच खींचतान के दोनों राज्यों के लोगों के बीच संघर्ष में बदल जाने की आशंका को लेकर है क्योंकि कुछ राजनीतिक दलों के नेताओं द्वारा एक दूसरे के खिलाफ भडकाऊ बयान देने के मामले सामने आए हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.