Akhilesh_Yadavमुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रदेश के सभी राज्य विश्वविद्यालयों को अपना शैक्षिक कैलेंडर बनाने के निर्देश दिए हैं। एक शासकीय प्रवक्ता ने यहां बताया है कि मुख्यमंत्री ने सभी राज्य विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को भेजे गए पत्र में निर्देश दिए है कि वे अपना शैक्षिक कैलेंडर बनाएं। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय यह सुनिश्चित करें कि उनके यहां शिक्षण सत्र जुलाई के दूसरे सप्ताह तक शुरु हो जाए और परीक्षा निर्धारित समय पर हो तथा परिणाम की घोषणा भी तय समय पर की जाए।
अखिलेश ने निर्देश दिए है कि शिक्षण कार्य पूरी गुणवक्ता के साथ सुनिश्चित हो। इसके लिए विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में शिक्षकों के रिक्त पदों को प्राथमिकता के आधार पर भरा जाए तथा सुनिश्चित कराया जाय कि शिक्षक कक्षा में उपस्थित हों और पूर्ण परिश्रम के साथ शिक्षण कार्य करें। प्रदेश सरकार के अनुदानित कालेजों में छात्रों तथा शिक्षकों की उपस्थिति की निगरानी जल्द ही शासन स्तर से की जाएगी। उच्च शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव नीरज कुमार ने आज यहां बताया कि अनुदानित महाविद्यालयों के लिए यू.पी.डेस्को से एक साफ्टवेयर तैयार कराया गया है जिसे बजट स्वीकृत होते ही कालेजों में स्थापित किया जाएगा। इसे उच्च शिक्षा निदेशालय इलाहाबाद में जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि इस व्यवस्था के लागू होने पर हर अनुदानित विद्यालय को रोजाना हर कक्षा में उपस्थित छात्रों की संख्या तथा शिक्षकों की उपस्थिति को विभागीय वेबसाइट में अपलोड करना होगा और निदेशालय तथा शासन स्तर पर इसकी समीक्षा की जाएगी। कुमार ने बताया प्रथम चरण में यह व्यवस्था अनुदानित महाविद्यालयों में की जा रही है। धीरे-धीरे इस व्यवस्था को सभी महाविद्यालयों – विश्वविद्यालयों में भी लागू कराया जाएगा।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.