sensexसरकार के आर्थिक एजेंडा का बाजार ने किया स्वागत
मुंबई। नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार के आर्थिक एजेंडा से उत्साहित शेयर बाजारों में आज लगातार तीसरे दिन तेजी का सिलसिला जारी रहा। बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 184 अंक की बढ़त के साथ 25,580.21 अंक की नई रिकार्ड उूंचाई पर पहुंच गया, वहीं नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी 71 अंक की बढ़त के साथ 7,654.60 अंक के नए रिकार्ड पर बंद हुआ। बाजार में तेजी के दौर के बीच निवेशकों की पूंजी एक लाख करोड़ रूपए बढ़ गई।
एशियाई बाजारों के मजबूत संकेतों से 30 शेयरों वाला सेंसेक्स बढ़त के साथ खुलने के बाद दिन में कारोबार के नए उच्च स्तर 25,644.77 अंक पर पहुंच गया। अंत में यह 183.75 अंक या 0.72 प्रतिशत के लाभ के साथ 25,580.21 अंक के नए रिकार्ड पर बंद हुआ पिछले तीन सत्रों में सेंसेक्स 774.38 अंक या 3.12 प्रतिशत मजबूत हुआ है। इसी तरह नेशनल स्टाक एक्सचेंंज के निफ्टी ने आज पहली बार 7,600 अंक का स्तर पार किया और यह कारोबार के दौरान नई रिकार्ड उूंचाई 7,673.70 अंक की नई रिकार्ड उूंचाई पर पहुंचा। अंत में निफ्टी 71.20 अंक या 0.94 प्रतिशत के लाभ के साथ नए रिकार्ड स्तर 7,654.60 अंक पर बंद हुआ। बजाज आटो, कोल इंडिया और एलएंडटी सहित सेंसेक्स के 20 शेयरों में लाभ रहा। बंबई शेयर बाजार के विभिन्न खंडों के सूचकांकों में 12 में से 10 लाभ के साथ बंद हुए। इस दौरान निवेशकों की पूंजी में एक लाख करोड़ रूपए का इजाफा हुआ। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आज संसद के दोनों सदनोंं की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शीर्ष प्राथमिकता खाद्य मुद्रास्फीति पर अंकुश लगाना है। इसके अलावा सरकार रोजगार सृजन, वृद्धि, एफडीआई को प्रोत्साहन देगी तथा अनकूल कर व्यवस्था सुनिश्चित करेगी। इसके साथ ही राष्ट्रपति के अभिभाषण में बुनियादी ढांचा कार्यक्रमों, रेलवे के पुनर्गठन तथा बिजली उत्पादन क्षमता में बढ़ोतरी के बारे में उल्लेख किया गया, जिससे बाजार धारणा को बल मिला। रेलिगेयर सिक्योरिटीज के अध्यक्ष खुदरा वितरण जयंत मांगलिक ने कहा कि राष्ट्रपति द्वारा नई सरकार के आर्थिक एजेंडा का अनावरण किए जाने के बाद बाजार में तेजी आई। इसमें वस्तु एवं सेवा कर को लागू करना, विदेशी निवेश को प्रोत्साहन व कारोबारी परियोजनाओं के लिए मंजूरियों को तेज करना शामिल है। सेंसेक्स की कंपनियों में टीसीएस, एचडीएफसी, आईटीसी, टाटा स्टील, मारूति सुजुकी, हीरो मोटोकार्प, टाटा पावर व गेल इंडिया के शेयरों में तेजी आई। गत शुक्रवार को विदेशी संस्थागत निवेशकों ने।,283.04 करोड़ रूपए की लिवाली की। इस तरह 2014 में अब तक उनका निवेश 50,000 करोड़ रूपए को पार कर गया गया है। एशियाई बाजारों में तेजी का रूख रहा। दक्षिण कोरिया को छोडक़र अन्य एशियाई बाजार 0.03 से 0.73 प्रतिशत की बढ़त में रहे। शुरूआती कारोबार में यूरोपीय बाजारों में मिलाजुला रूख था। सेंसेक्स की कंपनियों में बजाज आटो का शेयर 5.48 प्रतिशत चढ़ गया। कोल इंडिया में 5.22 प्रतिशत, एलएंडटी में 3.51 प्रतिशत, टाटा पावर में 2.53 प्रतिशत, टाटा स्टील में 2.49 प्रतिशत, गेल इंडिया में 2.30 प्रतिशत, टाटा मोटर्स में 1.92 प्रतिशत, मारूति सुजुकी में 1.66 प्रतिशत, टीसीएस में 1.49 प्रतिशत व हीरो मोटोकार्प में 1.11 प्रतिशत की बढ़त रही। वहीं दूसरी ओर ओएनजीसी का शेयर 2.26 प्रतिशत, हिंद यूनिलीवर 1.24 प्रतिशत, एसबीआई 1.18 प्रतिशत व इन्फोसिस 0.66 प्रतिशत लुढक़ गए। वेल्थरेज सिक्योरिटीज के निदेशक व सीईओ किरण कुमार कविकोंडाला ने कहा कि बाजार पर अब जो अगले आंकड़े प्रभाव डालेंगे उनमें मई माह के मुद्रास्फीति व अप्रैल के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े शामिल हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.