Rajnath Singh in Lucknowकेन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार देश की आंतरिक सुरक्षा के लिये खतरा बने नक्सलवाद के साथ-साथ उग्रवाद, माओवाद तथा अलगावववाद के संकटों का समाधान करने के लिये एक व्यापक और एकीकृत कार्ययोजना तैयार कर रही है। गृह मंत्री बनने के बाद पहली बार अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र लखनऊ पहुंचे सिंह ने पार्टी राज्य मुख्यालय पर संवाददाताओं से कहा कि देश के सामने आंतरिक सुरक्षा से सम्बन्धित तमाम संकट हैं। इसके लिये जो व्यापक एवं एकीकृत कार्ययोजना बननी चाहिये थी, वह विगत वर्षों में नहीं बनी। हमने इस पर काम प्रारम्भ कर दिया है। हमें विश्वास है कि हमें कामयाबी हासिल होगी। उन्होंने एक सवाल पर कहा, चाहे नक्सलवाद हो, उग्रवाद हो, आतंकवाद हो या अलगावववाद, हम इस चुनौती को स्वीकार करके उस पर संतुलित कार्रवाई की कोशिश करेंगे। सिंह ने आश्वस्त किया कि देश के गौरव और सम्मान को बचाने के लिये जो भी आवश्यक कदम होंगे, वे सरकार उठाएगी। उत्तर प्रदेश में बिगड़ते कानून व्यवस्था पर सवाल उठने पर उन्होंने कोई टिप्पणी करने से मना कर दिया।
इसके पूर्व, उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि केन्द्र की नवगठित मोदी सरकार देश को मौजूदा संकटों से निजात दिलाने के लिये कटिबद्ध है मगर पंगु हो चुकी व्यवस्था को डेढ़-दो साल में नहीं बदला जा सकता। इसके लिये सरकार को समय देने की जरूरत है। केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा मैं विश्वास दिलाता हूं कि जहां तक सारे देश की सुरक्षा व्यवस्था का सवाल है तो सरकार को जो भी करना होगा, हम करेंगे। भरपूर कोशिश होगी कि जिन संकटों से देश गुजर रहा है उनसे निजात दिलाएंगे लेकिन यह भी सच है कि पंगु हो चुकी व्यवस्था को ठीक करने में समय लगेगा। हमें समय दें। सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि जनता ने जिस तरह का बहुमत दिया है, उसे हमसे बहुत अपेक्षाएं हैं। हमारे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गतिशील व्यक्तित्व और कल्पना क्षमता के धनी व्यक्ति हैं। पांच साल में हम जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरेंगे।
उन्होंने कहा कि मोदी द्वारा मंत्रिमंडल के शपथग्रहण समारोह में दक्षेस राष्ट्राध्यक्षों को आमंत्रित किये जाने से अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर भी देश की छवि बनी है। राष्ट्राध्यक्षों को आमंत्रित करके हमने यह संदेश दिया है कि हम पड़ोसियों के साथ अच्छे सम्बन्ध चाहते हैं। इससे केवल दक्षिण एशिया के देशों में ही नहीं बल्कि अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर भी देश की अच्छी छवि बनी है। अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र लखनऊ के विकास के बारे में भाजपा सांसद ने कहा कि उन्होंने निर्वाचित होने के 100 दिन के अंदर लखनऊ की तरक्की के लिये कार्ययोजना बनाने की बात कही थी। इसमें लखनऊ विकास प्राधिकरण के पूर्व उपाध्यक्ष दिवाकर त्रिपाठी ने काफी काम पूरा कर लिया है।
जितना हो सकेगा, वह करने की पूरी कोशिश की जाएगी। श्री सिंह ने सूबे की कानून व्यवस्था पर कहा कि अभी किसी भी राज्य विशेष के बारे में बोलने का वक्त नहीं है लेकिन गृह मंत्रालय के पास उन सभी राज्यों की रिपोर्ट अवश्य है। बदायूं काण्ड पर भी उन्होंने कहा कि सारी रिपोर्ट गृह मंत्रालय के पास है। अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा पर उन्होंने कहा कि अटल जी कहा करते थे कि हम दोस्त बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं। उसी तर्ज पर केन्द्र सरकार कार्य कर रही है। भाजपा नेता ने इस मौके पर पार्टी कार्यकर्ताओं को धन्यवाद भी दिया। उन्होंने कहा कि लखनऊ की जनता ने अपना प्रतिनिधि चुनकर उन्हें संसद भेजा है। वो जनता द्वारा मिली इस जिम्मेदारी को भलीभांति समझते हैं और इसे निभाने की पूरी कोशिश करेंगे। गृहमंत्री जैसे महत्वपूर्ण पद की जिम्मेदारी का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि लखनऊ आने का मौका कम लगेगा लेकिन इस शहर के विकास के लिये एक योजना तैयार की जा रही है। वादे के मुताबिक 100 दिन के भीतर यह प्लान तैयार हो जायेगा और विकास कार्य प्रभावी रूप से शुरू करा दिये जायेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.