Mobile-Comet-1न्यूज नेटवर्क242g
दिल्ली की एक विशेष अदालत ने स्वान टेलीकॉम के प्रमोटर शाहिद उस्मान बलवा का बयान नए सिरे से रिकॉर्ड करने के लिए उसके आग्रह को स्वीकार करते हुए उस पर एक लाख रूपए का जुर्माना लगाया। उसने 2जी घोटाले से संबंधित मुकदमे में अदालत को दिए अपने पूर्व के जवाब को वापस लेने का आग्रह किया था। विशेष सीबीआई न्यायाधीश ओपी सैनी ने हालांकि, 2जी मामले में आरोपी बलवा की जमानत रद्द करने की सीबीआई दलील स्वीकार नहीं की।
अदालत ने यह आदेश बलवा की उस याचिका पर पारित किया जिसमें उसने अपनी पूर्व की पेशी के दौरान दिए गए अपने जवाब वापस लेने की अनुमति मांगी थी। सीबीआई ने तर्क दिया था कि बलवा का बयान कुछ और नहीं, बल्कि अदालत का ध्यान भटकाने का कुत्सित प्रयास है। जिरह के दौरान विशेष सरकारी अभियोजक यू यू ललित ने कहा कि बलवा का पूर्व का तर्क कि वह सीआरपीस के प्रावधानों के तहत अदालत द्वारा पूछे गए सवालों को समझने में असफल रहा, कोई लापरवही पूर्ण त्रुटि नहीं है, बल्कि यह एक सोचा समझा कदम है। अभियोजक ने यह भी कहा था कि यह अदालत द्वारा आरोपी पर किए गए भरोसे का उल्लंघन है और उसे अदालत के प्रति ईमानदार होना चाहिए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.