gang rapeदरिदंगी का यह आलम शायद ही कहीं देखने को मिला हो। अपराधियों और अपराधों का सिलसिला नहीं थम रहा है। सरकार कोई भी आये लेकिन अपराधी भयभीत नहीं हो रहे हैं। महिलाओं को सुरक्षित करने का दावा सभी सामाजिक संस्था और सरकारें करती हैं लेकिन अपराध नहीं रूक रहे हैं। ऐसा ही हुआ बदंायू में। जहां दो बहनों के साथ बलात्कार कर उनहें पेड़ पर लटका दिया गया।
यूपी के बदायूं जिले में दो बहनों का कथित तौर पर गैंगरेप कर उनका शव पेड़ पर टांगने की दिल दहलाने वाली घटना के बाद सियासत गरमा गई है। भाजपा ने अखिलेश यादव के नेतृत्‍व वाली सपा सरकार पर हमला बोला है। पार्टी नेता लक्ष्‍मीकांत वाजपेयी ने कहा कि यूपी सरकार की चुप्‍पी बताती है कि वह मामले में कार्रवाई करने को लेकर गंभीर नहीं है।
वहीं, आंवला के सांसद धर्मेंद्र कश्यप ने कहा है कि यूपी सरकार मामले को जानबूझकर दबा रही है, जबकि कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। बरेली के डीआईजी मृतक लड़कियों के परिजनों से मिले। उन्होंने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया और कहा कि डीएनए सैंपल के आधार पर मामले की जांच की जाएगी। राष्‍ट्रीय महिला आयोग और राष्ट्रीय अनुसूचित आयोग ने भी मामले का संज्ञान लिया है। आयोग की सदस्‍य निर्मला सामंत ने कहा कि यह दिल दहला देने वाली घटना है। शुक्रवार को राष्ट्रीय महिला आयोग और राष्ट्रीय अनुसूचित आयोग का एक जांच दल मामले की जांच करने घटनास्थल पर जाएगा।
मृतक के पिता ने की सीबीआई जांच की मांग
मृतक लड़कियों के पिता ने पुलिस की जांच पर सवाल खड़े करते हुए सीबीआई जांच की मांग की है। मृतक के पिता सोहन लाल का आरोप है कि पुलिस सही सही जांच करने के बजाय उन पर ही समझौता करने का दबाव डाल रही है और धमका रही है।इसके अलावा घर से बाहर भी निकलने नहीं दे रही है।
इससे पहले कांड के कई घंटे बीत जाने के बाद भी अभियुक्त अवधेश के न पकड़े जाने के पर गुरुवार को लोगों ने हंगामा किया। गुस्साए लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
तीसरा आरोपी भी गिरफ्तार
आपको बता दें कि हंगामे के बाद कांड के तीसरे आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी सिटी मान सिंह चौहान ने बताया कि तीसरे आरोपी अवधेश यादव को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। साथ ही अन्य कई लोगों को हिरासत में लिया गया है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है।
पुलिस पर भी है आरोप
यह घटना बदायूं जिले के उसहैत के कटरा सआदतगंज गांव की है। जिन दो नाबालिगों से कथित तौर पर गैंगरेप कर उनकी हत्‍या की गई है, वे चचेरी बहनें हैं। बताया जा रहा है कि दोनों बहनें सोमवार से ही घर से लापता थीं। हत्‍या और कथित गैंगरेप की इस वारदात में सिपाही समेत चार लोग शामिल बताए जा रहे हैं। दोनों छात्राओं की हत्‍या के बाद अपराधियों ने शवों को गांव में ही एक पेड़ पर लटका दिया था। परिजनों का आरोप है कि दोनों बच्चियों की गैंगरेप के बाद हत्‍या की गई है। उनके मुताबिक, वे लड़कियों के गुम होने की शिकायत लेकर कटरा चौकी पहुंचे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें भगा दिया। काफी देर बाद सिपाही सर्वेश यादव ने बताया कि दोनों लड़कियां बाग में फांसी से लटकी हुई हैं।
पुलिस को पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट का इंतजार
पुलिस अधीक्षक मानसिंह चौहान के मुताबिक, 14 और 15 साल की ये दो नाबालिग छात्राएं मंगलवार रात शौच के लिए गांव के बाहर गई थीं। दोनों बहनों के घर नहीं लौटने पर परिजनों ने रातभर उनकी तलाश की। बुधवार सुबह उनके शव गांव के एक बाग में एक पेड़ से लटके मिले। चौहान ने कहा कि गैंगरेप होने की पुष्टि पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हो सकेगी।
दो आरोपी हुए गिरफ्तार
बदायूं पुलिस ने मामले में शामिल चार लोगों में से दो को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि चौकी इंचार्ज रामविलास सहित चार पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। हालांकि, इस पूरे मामले में बदायूं के एसपी सिटी मुकेश कुमार के अनुसार लापरवाही बरतने वाले चौकी इंचार्ज रामविलास सहित आरक्षी सत्यपाल और सर्वेश को निलंबित कर दिया गया है। जबकि तीन आरोपियों में से पप्पू और उर्वेश को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि, आरोपी अवधेश यादव अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।सामाजिक संगठनों का विरोध
पुलिस की लापरवाही और लड़कियों के प्रति हुई अमानवीय घटना को लेकर प्रदेश भर के सामाजिक संगठनों के विरोध के सुर तेज हो गए हैं। कई महिला संगठनों ने राज्य सरकार और पुलिस महकमे को गुरुवार तक का वक्‍त देते हुए कहा है कि इस मामले के सभी आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर उन्हें कठोर सजा दी जाए नहीं तो शुक्रवार से प्रदेशव्यापी आंदोलन किया जाएगा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.