• जल संरक्षक के लिए आना पड़ेगा आगे
लखनऊ। श्री शुभ संस्कार समिति द्वारा 22 वे श्री गणेश जन्मोत्सव का आज हवन के बाद समापन हो गया । गणेश जी की बड़ी मिट्टी की मूर्ति के साथ-साथ नित्य काली मिट्टी की हस्त निर्मित 40 मूर्तियों को संकटा देवी मंदिर प्रांगण में ही टब और स्टील के ड्रम में विसर्जित किया गया।
समिति के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत पांडे ने बताया जल संरक्षण के संबंध में हम लोग विगत 2 वर्षों से श्री गणेश जी का विसर्जन मंदिर प्रांगण में ही कर रहे हैं। इनका मिट्टी वाला जल पेड़ में डाल दिया जाता है।
महामंत्री रिद्धि किशोर गौड़ दें बताया की हाल में ही ऑक्सीजन के लिए लोगों ने लाखों रुपए खर्च किए जल भी निरंतर कम होता जा रहा है, नदियां प्रदूषित हो चुकी है हम लोग जल के लिए संघर्ष ना करना पड़े इसलिए सबको आगे आना पड़ेगा। लोग माँ गोमती को प्रदूषित न करें।
आचार्य पंडित गिरजा शंकर दीक्षित, राजेश शुक्ल,सुरेंद्र गौड़ ने विधि विधान से यज्ञ संपन्न कराया। विसर्जन के उपरांत आशीष अग्रवाल, श्यामू मिश्रा, दिलीप मिश्रा, राजेश आनंद,चौक समाचार वितरक कल्याण समिति के अध्यक्ष प्रदीप कुमार, अमित गौड़, संजय शर्मा, श्यामू यादव, नीरा गर्ग, कुशल, करण गौड़ पूड़ी सब्जी, बून्दी, लड्डू भंडारे का प्रसाद वितरित किया।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.