नई दिल्ली। विज्ञान भवन में आयोजित समारोह में वर्ष 2018-19, 2019-20 एवं 2020-21 के दौरान हिन्दी के श्रेष्ठ कार्यान्वयन हेतु यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को प्रतिष्ठित राजभाषा कीर्ति पुरस्कार प्रदान किए गए। बैंक के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ राजकिरण रै जी. ने यह पुरस्कार अमित शाह, माननीय गृह एवं सहकारिता मंत्री, भारत सरकार के कर-कमलों से प्राप्त किए।
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को श्रेष्ठ राजभाषा निष्पादन के लिये निम्नलिखित श्रेणियों के अंतर्गत 5 पुरस्कार प्राप्त हुए।
राष्ट्रीयकृत बैंक श्रेणी –
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (पूर्व कार्पोरेशन बैंक) को ‘ग’ क्षेत्र हेतु वर्ष 2019-20 के लिये प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ।
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को वर्ष 2020-21 हेतु तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ।
गृह पत्रिका श्रेणी –
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की पत्रिका `यूनियन सृजन’ को वर्ष 2018-19 के लिए द्वितीय पुरस्कार प्राप्त हुआ।
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (पूर्व आंध्रा बैंक) की पत्रिका `राजभाषा सरिता’ को वर्ष 2018-19 के लिए द्वितीय पुरस्कार प्राप्त हुआ।
नराकास श्रेणी (ग क्षेत्र)-
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (पूर्व आंध्रा बैंक) के नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति (नराकास) विशाखापट्टनम को वर्ष 2019-20 के लिए द्वितीय पुरस्कार प्राप्त हुआ।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.