कॉमेडियन और एक्टर कृष्णा अभिषेक का उनके मामा गोविंदा के साथ विवाद चल रहा है. मामा गोविंदा अपने भांजे कृष्णा से काफी नाराज हैं. कृष्णा चाहते हैं कि उनके मामा गोविंदा और मामी सुनीता उन्हें माफ कर दें. कृष्णा का कहना है कि वह कई बार मामा और मामी से माफी मांग चुके हैं, लेकिन वे लोग उन्हें माफ नहीं कर रहे हैं. हाल ही में गोविंदा और सुनीता कपिल शर्मा के शो में नजर आए थे. इस शो के बाद पत्रकारों से बात करते हुए कृष्णा की मामी सुनीता ने कुछ ऐसा कह दिया था, जिससे कृष्णा को दुख पहुंचा हो.
बता दें कि सुनीता ने कहा था कि तीन साल पहले मैंने कहा था कि जबतक मैं जिंदा हूं ये मामला नहीं सुलझने वाला. आप परिवार के नाम पर किसी का अपमान या उन्हें नीचा नहीं दिखा सकते हैं. हमने उन्हें पाला है और हमने उन्हें ऐसे नहीं रखा. मैं और क्या ही कह सकती हूं, यह मामला कभी नहीं सुलझने वाला और मैं उसका चेहरा फिर कभी नहीं देखना चाहती. स्पॉटबॉय की रिपोर्ट के अनुसार, मामी सुनीता की इन बातों से हताश कृष्णा ने कहा कि मुझे मालूम है कि मेरी मामी ने मेरे खिलाफ बहुत कुछ बोला है.
कृष्णा ने कहा कि बिल्कुल, इस चीज से मैं काफी दुखी हूं, लेकिन अब मुझे एहसास होता है कि वह बहुत गुस्सा हैं, क्योंकि वे लोग (मामा-मामी) मुझसे नाराज हैं. यह कुछ फिल्मी था कि ‘मैं उसका चेहरा दोबारा नहीं देखना चाहती’. कोई आपसे तभी नाराज होता है, जब वह आपसे प्यार करता है. कृष्णा का कहना है कि उन्होंने एक बार नहीं बल्कि कई बार अपने मामा-मामी से माफी मांगी है, लेकिन वे उन्हें माफ नहीं कर रहे हैं.
रिपोर्ट के मुताबिक, कृष्णा ने आगे कहा कि मैं जानता हूं कि वे मुझसे बहुत प्यार करते हैं, वरना वे मुझसे इतना गुस्सा क्यों करते? ये शब्द सिर्फ मां या बाप ही बोल सकते हैं, जब वह अपने बच्चों से नाराज होते हैं. मैं ये आपको लिखकर दे सकता हूं. मैं अपने मामा और मामी से बहुत प्यार करता हूं. मैंने उनकी माफी पाने की कई बार कोशिश की, लेकिन वह मेरी माफी को स्वीकार नहीं कर रहे हैं और यहीं पर ये दिक्कत है.
कॉमेडियन ने आगे कहा कि मैं नहीं जानता कि वे मुझे माफ क्यों नहीं करना चाहते, वो भी तब जब मैं उनके बच्चे की तरह हूं. कई इंटरव्यूज में कई बार मैंने कहा है कि हम मामला सुलझा लेंगे और उन्होंने भी ऐसा कहा, लेकिन हम अभी भी उसी जगह पर खड़े हैं. आखिर में कृष्णा ने कहा कि मैं अपने मामा और मामी से बहुत प्यार करता हूं. उनकी नाराजगी मुझे परेशान कर रही है. मैं अंदर से दुखी हूं. मैं इस सबसे परेशान हो चुका हूं. वो लोग मेरे पैरेंट्स की तरह हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.