उत्तर प्रदेश में होने वाले 2022 विधानसभा चुनाव से पहले जमीन तैयार की जा रही है. इसी के चलते सियासी बयान बाजियों के चलते तीर चलाए जा रहे हैं. जहां एक रैली के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने बिना किसी का नाम लिए जब अब्बाजान की जिक्र करते हुए राशन घोटाले पर उठाया तो समाजवादी पार्टी तिलमिला गई और खुद सपा सुप्रीमों अखिलेश यादव ने कहा कि हार के डर से बीजेपी बौखला गई है. उन सबके बीच किसान आंदोलन की अगुवाई करने वाले बीकेयू प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भी बीजेपी और असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधा है.
दरअसल, बागपत में भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि बीजेपी के चाचा जान असदुद्दीन ओवैसी ने यूपी में एंट्री कर ली है. अगर ओवैसी बीजेपी को गाली देंगे तो वे उनके खिलाफ कोई मामला दर्ज नहीं करेंगे. क्योंकि वे सभी एक टीम हैं. उन्होंने बताया कि ये सच है जिसे प्रदेश की जनता जान चुकी है. बीजेपी किस तरह की राजनीति करती है उसे भी लोग समझते हैं और समय आने पर जनता सबक जरूर सिखाएगी. इसके साथ ही उन्होंने तीन कृषि कानून वापस नहीं लेने पर कड़े कदम उठाने की चेतावनी दी.

किसानों को नहीं मिल रहा फसलों का दाम
बता दें कि पिछले दिनों हुई मुजफ्फरनगर में होने वाली पंचायत के सवाल पर बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि यह बीजेपी द्वारा प्रायोजित हैं जिसमें किसानों को अपनी फसलों का दाम नहीं मिल रहा है. ज्यादा महंगी बिजली यूपी में हैं. सरकार को झूठ बोलने का गोल्ड मेडल देंगे. उन्होंने बताया कि एमएसपी का लाभ किसानों को नहीं व्यापारियों को मिला है. वहीं, 27 सितंबर के भारत बंद को व्यापारियों से एक दिन किसानों के नाम अपना व्यापार बंद करने की अपील करेंगे.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.