देश की राजधानी दिल्ली में (Delhi) दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) यूनिट ने पाकिस्तान (Pakistan) की ओर से संचालित टेरर मॉड्यूल (Terror Module) का भंडाफोड़ किया है. वहीं, दिल्ली की एक अदालत ने पकडे गए आतंकियों की कस्टडी रिमांड स्पेशल सेल को 14 दिनों के लिए दे दी है. भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच आतंकियों को कोर्ट में पेश किया गया था. पकड़े गए के चारों आतंकी, जन मोहम्मद शेख, ओसामा, मूलचंद और मोहम्मद मुशीर अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के हवाले हैं. बताया जा रहा है कि ये 2 आतंकी पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर आए थे. इन संदिग्धों को यूपी, महाराष्ट्र और दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है. इनके पास से हथियार और गोला बारूद भारी मात्रा में बरामद किया गया है.
दरअसल, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की गिरफ्त में आए 6 आंतकियों में से एक है ओसामा सामी जोकि डी-71, ग्राउंड फ्लोर और अबू फजल एन्क्लेव पार्ट- I,ओखला, जामिया नगर का रहने वाला है. सूत्रों के मुताबिक वो यहां किराए के मकान पर रहता है. पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में ओसामा ने बताया है कि वो बीते 22 अप्रैल 2021 को लखनऊ की फ्लाइट से मस्कट पहुंचा था. जहां पर उसकी मुलाकात जीशान से हुई. जोकि पाकिस्तान में ट्रेनिंग के लिए प्रयागराज से आया था और उनके साथ बांग्ला भाषी लोग भी शामिल हुए थे. उसने कहा कि इसके बाद उन सभी को एक ग्रुप में बांटा गया, जिसमें जीशान और ओसामा को एक ग्रुप में रखा गया.

15 दिन की ट्रेनिंग के बाद आतंकियों को भेजा गया मस्कट
बता दें कि इसके अगले कुछ दिनों में कई बार नावें बदलने के बाद उन्हें एक शहर जियोनी, ग्वादर बंदरगाह, पाकिस्तान के पास ले जाया गया. वहां पर उनका स्वागत एक पाकिस्तानी ने किया जो उन्हें पाकिस्तान के थट्टा में एक फार्म हाउस में ले गया. इस दौरान फार्म हाउस में तीन पाकिस्तानी नागरिक मौजूद थे. इनमें से दो, जब्बार और हमजा ने उन्हें ट्रेनिंग दी. ये दोनों पाकिस्तानी सेना से थे क्योंकि उन्होंने आर्मी की वर्दी भी पहन रखी थी. उन्हें बम, आईईडी, हथियार चलाने और आगजनी फैलाने की ट्रेनिंग दी गई. लगभग 15 दिनों तक चली ट्रेनिंग के बाद उन्हें मस्कट वापस लाया गया.
देश में रच रहे थे आतंकी हमले की साजिश
खबरों के मुताबिक पकड़ा गया टेरर मोड्यूल ISI की निगरानी में देश के बड़े शहरों में आतंकी हमलों की साजिश रच रहा था. इसी साजिश को अंजाम देने के लिए हथियार और बम विस्फोटक एकत्र किए गए थे. वहीं, गिरफ्तार किए गए 2 आतंकियों के कनेक्शन अंडरवर्ल्ड से भी हैं. बता दें कि इस मॉड्यूल के बारे में खुफिया एजेंसियों को जानकारी मिली थी. खुफिया जांच में पता चला कि इनका नेटवर्क कई प्रदेशों में फैला है. इसके बाद की गई छापेमारी में महाराष्ट्र का रहने वाला एक आतंकी कोटा से गिरफ्तार किया गया था. इसके साथ ही 2 आतंकी दिल्ली से पकड़े गए और 3 को यूपी एटीएस की मदद से पकड़ा गया.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.