लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में अन्य राजनीतिक दलों की तरह अब शिवसेना ने भी चुनाव लड़ने की तैयारी कर ली है. पार्टी मुखिया उद्धव ठाकरे के निर्देश के बाद अब यूपी में शिवसेना करीब 100 सीटों पर प्रत्याशी उतारने की तैयारी कर रही है. उत्तर प्रदेश शिवसेना के प्रमुख ठाकुर अनिल सिंह का कहना है कि इस बार शिवसेना बेहतर तरीके से विधानसभा चुनाव लड़ेगी और अन्य दलों से गठबंधन की संभावना होगी तो गठबंधन भी किया जाएगा.
महाराष्ट्र में वर्तमान में शिवसेना की बात करें तो पार्टी सत्ता में है. इसके पहले भी भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन में हिस्सेदार रही. महाराष्ट्र में पार्टी का दबदबा है. उद्धव ठाकरे वहां के मुख्यमंत्री हैं और उन्होंने इस बार यूपी में दमखम से चुनाव लड़ने का एलान किया. पिछले सालों की तुलना में इस बार यूपी में शिवसेना के कार्यकर्ताओं में भी जोश है. इसके पीछे वजह यही है कि एक राज्य में पार्टी की सरकार है. इस बार विधानसभा चुनाव में शिवसेना के लिए उद्धव ठाकरे प्रचार करने आएंगे तो वह मुख्यमंत्री के रूप में आएंगे न कि सिर्फ शिवसेना के मुखिया के रूप में.
शिवसेना के उत्तर प्रदेश प्रमुख ठाकुर अनिल सिंह का कहना है कि यूपी में जो भी पार्टियां शिवसेना के साथ गठबंधन करना चाहेंगी शिवसेना उसके लिए तैयार हैं. छोटी पार्टियों से गठबंधन पर विचार जरूर किया जाएगा. उत्तर प्रदेश में पिछले कई सालों से शिवसेना 150 से लेकर 200 सीटों पर अपने प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारती रही है, लेकिन सफलता शिवसेना से कोसों दूर रही.
शिवसेना के उत्तर प्रदेश प्रमुख ठाकुर अनिल सिंह बताते हैं कि साल 1991 में पवन पांडेय के रूप में पार्टी का एक विधायक जीता था. तबसे लेकर अब तक जीत तो नहीं हुई है, लेकिन इस बार पार्टी नई रणनीति के साथ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में उतर रही है. कम से कम 100 सीटों पर प्रत्याशी उतारने की तैयारी है, जल्द ही इसकी घोषणा की जाएगी. उन्होंने बताया कि जहां पर शिवसेना के प्रत्याशी खुद में मजबूत हैं. उन सीटों पर अभी से मजबूती से चुनाव की तैयारी शुरू हो गई है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.