ठाणे : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM MODI) के भाई प्रहलाद मोदी ने व्यापारियों के हक में मोर्चा खोला है. उन्होंने कहा कि जब तक मांगें नहीं मानी जातीं व्यापारियों को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) देना बंद कर देना चाहिए. उन्होंने साफ कहा कि व्यापारियों को केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा लगाए गए जीएसटी का भुगतान नहीं करना चाहिए.
प्रहलाद मोदी (Prahlad Modi) ऑल इंडिया फेयर प्राइस शॉप एसोसिएशन (All India Fair Price Shop Association) के उपाध्यक्ष हैं. उल्हासनगर में आयोजित ट्रेडर्स ट्रेड एसोसिएशन के एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा लगाए गए जीएसटी का भुगतान न करें. तब न केवल मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी आपके दरवाजे पर आएंगे.
खुले व्यापार के लिए राजीव गांधी की आलोचना
प्रहलाद मोदी ने कहा कि ईंधन की कीमतें अंतरराष्ट्रीय बाजार द्वारा निर्धारित की जाती हैं. यह पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के कार्यकाल के दौरान हुआ है. इसलिए खुले बाजार के हिसाब से दौड़ना है तो झेलना होगा. व्यापारियों के खिलाफ मामले वापस लेने की मांग करते हुए ट्रेड एसोसिएशन ने कहा है कि उसने केंद्र को अपनी मांगों से अवगत कराने के लिए प्रहलाद मोदी को आमंत्रित किया है. उल्हासनगर के ज्यादातर व्यापारियों पर लॉकडाउन के दौरान नियमों का उल्लंघन करने का आरोप लगा है. अन्य राज्यों ने मामले वापस ले लिए हैं, महाराष्ट्र को भी वापस लेना चाहिए.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.