उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने उन सारे दावों को खारिज किया है, जिसमें भविष्य में बीजेपी के साथ बीएसपी गठबंधन के कयास लगाए जा रहे थे।
उन्होंने कहा कि इस चुनाव में बीजेपी की हालत पतली हो गई है, इसलिए वह अब सहयोगियों की बात कर रही है। मायावती ने बीजेपी और नरेंद्र मोदी पर मुस्लिमों को गुमराह करने का भी आरोप लगाया।
दरअसल मोदी ने अपने ताजा इंटरव्यू में कहा है कि अगर उन्हें बहुमत नहीं मिला तो वह जयललिता, ममता बनर्जी और मायावती से समर्थन की मांग करेंगे।
बीजेपी पर ओछी चालें चलने का आरोप लगाते हुए मायावती ने कहा कि उसने हमेशा बीएसपी आंदोलन को क्षति पहुंचाने की कोशिश की है। उन्होंने कहा, केंद्र में एनडीए की पिछली सरकार के कार्यकाल में बसपा आंदोलन को नुकसान पहुंचाने के लिए मेरे खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के आरोप में मामला दर्ज करवा दिया गया था। इसी तरह, प्रदेश में जब-जब उन्होंने (बीजेपी) हमारे साथ सरकार बनाई बीएसपी आंदोलन को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई।
mayavatiवाराणसी और चंदौली में चुनावी जनसभाओं को संबोधित करने के लिए रवाना होने से पहले मायावती ने कहा, मोदी के बयान के सहारे विरोधी दल बीएसपी को नुकसान पहुंचा सकते है, इसलिए रैलियों को संबोधित करने जाने से पहले हमने इस प्रकरण में अपनी स्थिति स्पष्ट कर देना जरूरी समझा।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.