ओलंपिक गेम्स 2032 का आयोजन ऑस्ट्रेलिया के शहर ब्रिस्बेन में किया जाएगा. इंटरनेशनल ओलंपिक कमेटी ने इसका आधिकारिक ऐलान बुधवार को कर दिया. ब्रिस्बेन ने आईओसी के 138वें सीजन के दौरान 2032 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक की मेजबानी करने का अधिकार प्राप्त किया है. ऑस्ट्रेलिया इससे पहले भी दो बार ओलंपिक की मेजबानी कर चुका है. उसने 1956 मेलबर्न और 2000 सिडनी ओलंपिक की मेजबानी की है.
2017 में आईओसी ने 2024 ओलंपिक की मेजबानी पेरिस और 2028 ओलंपिक की मेजबानी लॉस एंजिल्स को सौंपी थी. फरवरी 2021 में आईओसी ने कहा था कि ब्रिस्बेन 2032 ओलंपिक खेलों की मेजबानी करने के लिए उपयुक्त उम्मीदवार है. हालांकि आईओसी द्वारा ब्रिस्बेन को पसंदीदा बताने के बावजूद कतर ने 2032 खेलों की मेजबानी करने की अपनी इच्छा दोहराई थी. बीते 10 जून को आईओसी के 15 मजबूत कार्यकारी बोर्ड ने ब्रिस्बेन को चुनाव के लिए एकल उम्मीदवार के रूप में मंजूरी दी थी.

टोक्यो ओलंपिक का आयोजन इस बार जापान की राजधानी टोक्यो में किया जा रहा है. टोक्यो ओलंपिक की शुरुआत 23 जुलाई से हो जाएगी और इसका समापन 8 अगस्त को होगा. इस बार भारत की तरफ से टोक्यो ओलंपिक में 127 खिलाड़ियों ने दावेदारी ठोंकी है. उम्मीद है कि इस बार भारतीय खिलाड़ी देश के लिए कई पदक जीतकर आएंगे. आपको बता दें कि टोक्यो के बाद ओलंपिक खेलों का आयोजन 2024 में फ्रांस के पेरिस में किया जाएगा. इसके बाद 2028 में लॉस एंजेलिस में ओलंपिक गेम्स का आयोजन होगा.
ओलंपिक 2032 की मेजबानी कर ऑस्ट्रेलिया बनाएगा यह रिकॉर्ड
ऑस्ट्रेलिया तीन अलग-अलग शहरों में ओलंपिक खेलों की मेजबानी करने वाला संयुक्त राज्य अमेरिका के बाद दूसरा देश बन जाएगा. इससे पहले मेलबर्न ने 1956 में और सिडनी ने 2000 में ओलंपिक का आयोजन किया गया था. कई शहरों और देशों ने 2032 खेलों की मेजबानी में रुचि दिखाई थी, जिसमें इंडोनेशिया, हंगरी की राजधानी बुडापेस्ट, चीन, कतर के दोहा और जर्मनी के रुहर वैली रीजन शामिल हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.