लखनऊ: पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी डॉ नूतन ठाकुर ने राजस्थान में सीबीआई जांच में फंसी एक कंपनी को यूपी में एम्बुलेंस का काम दिए जाने पर कड़ी आपत्ति जताई है. जिसके लेकर उन्होंने सीएम योगी आदित्यनाथ को अपनी शिकायत भेजी है. इस शिकायत में उन्होंने कहा है कि एडवांस लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस सेवा (एएलएस) के लिए 21 जनवरी 2021 को टेंडर निकाला गया. 22 मई को एम्बुलेंस संचालन के लिये फाइनेंशियल बिड खुली जो जिगित्सा हेल्थ केयर प्राइवेट लिमिटेड को दी गयी. जिसके बाद जिगित्सा ने बिना कोई देरी किए इसके मैनपावर के लिए विज्ञापन निकाला.
कोर्ट में चार्ज सीट
अमिताभ और नूतन के अनुसार इस कंपनी को इतना संवेदनशील काम दिया जाना अत्यंत गंभीर एवं आपत्तिजनक मामला है. इसका पहला कारण यह है कि इस कंपनी के खिलाफ राजस्थान में सीबीआई जांच हुई. जिसमें सीईओ श्वेता मंगल सहित कई अफसरों पर कोर्ट में चार्जशीट भेजी गयी है.
टेंडर निरस्त करने की मांग
उन्होंने सिर्फ राजस्थान ही नहीं मध्यप्रदेश का हवाला देते हुए कहा कि इस कंपनी पर मध्यप्रदेश में भी एम्बुलेन्स संचालन के लिए चयन करने के बाद उस पर मरीजों की फर्जी केस आईडी बनाना सहित तमाम गड़बड़ियों के आरोप हैं. यही नहीं मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में भी इस संबंध में पीआईएल चल रहा है. उड़ीसा में भी इस कंपनी के खिलाफ हाई कोर्ट में पीआईएल दायर हुआ जिसकी सुनवाई चल रही है. अमिताभ तथा नूतन ने मुख्यमंत्री को ये सभी अभिलेख भेजते हुए अविलंब इस कंपनी का टेंडर निरस्त करने की मांग की

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.