लखनऊ: 2022 के विधानसभा चुनाव (Assembly election 2022) की बिसात बिछनी शुरू हो गई है. जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है यूपी में राजनीतिक तापमान भी बढ़ता रहा है. आम आदमी के प्रदेश प्रभारी संजय सिंह लगातार उत्तर प्रदेश में डेरा डाले हुए हैं. वहीं भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद भी लखनऊ का दौरा कर रहे हैं. इसी बीच भीम आर्मी के अध्यक्ष चंद्रशेखर और आप के यूपी प्रभारी संजय सिंह ने सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर (Omprakash Rajbhar) से मुलाकात की है.
इस मुलाकात को लेकर सुभासपा अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा- “जो भी लोग आ रहे हैं वह मोर्चे में शामिल होंगे और निश्चित रूप से मोर्चा मजबूत होगा और ताकत बढ़ेगी. भागीदारी संयुक्त मोर्चा आगामी विधानसभा चुनाव 2022 की तैयारियों के लिए अनेक राजनीतिक दलों के संपर्क में हैं, जिससे आने वाले विधानसभा के चुनाव में प्रदेश की सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी से मुकाबला किया जा सके.”
आप, तृणमूल कांग्रेस और उद्धव का मिलेगा साथ
ओमप्रकाश राजभर का कहना है कि “आने वाले विधानसभा चुनाव में भागीदारी मोर्चा को ओवैसी, अरविंद केजरीवाल, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे का साथ मिलेगा. निश्चित रूप से जब भागीदारी संयुक्त मोर्चा के पास तीन मुख्यमंत्री होंगे. ऐसे में भाजपा से भागीदारी मोर्चा मुकाबला करने के लिए तैयार हो रहा है.”
केजरीवाल से मुलाकात का मिला आश्वासन
भागीदारी संयुक्त मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक ओमप्रकाश राजभर ने बताया कि “राज्यसभा सदस्य और यूपी प्रभारी संजय सिंह से मुलाकात के बाद उत्तर प्रदेश के सियासी समीकरण पर चर्चा हुई. इसके साथ ही दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल से मुलाकात कराने का आश्वासन भी संजय सिंह ने दिया है और निश्चित रूप से आने वाले विधानसभा चुनाव में भाजपा से दो-दो हाथ करने के लिए आम आदमी पार्टी भागीदारी मोर्चा का साथ देगी.”
भीम आर्मी भी आएगी साथ
लखनऊ दौरे पर आए भीम आर्मी के संस्थापक राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद सोमवार को लखनऊ दौरे पर थे और भागीदारी मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक ओमप्रकाश राजभर से मुलाकात भी. ओमप्रकाश राजभर का कहना है कि विधानसभा चुनाव में भीम आर्मी भी संयुक्त मोर्चे के साथ रहेगी. सभी लोग एक साथ मिलकर लड़ेंगे तो निश्चित रूप से इससे भागीदारी मोर्चा मजबूत होगा और भाजपा को कड़ी टक्कर दी जा सकेगी.
सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार में मंत्री थे., अपने विवादित बयानों के चलते प्रदेश की योगी सरकार ने उन्हें मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया, जिसके बाद से वह भागीदारी संयुक्त मोर्चा का गठन कर ओवैसी और अन्य छोटे दलों के साथ मिलकर आने वाले विधानसभा के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को कड़ी टक्कर देने के मूड में हैं. भाजपा को टक्कर देने में ओमप्रकाश राजभर कितना सफल हो पाते हैं यह तो आने वाला समय बताएगा. ओमप्रकाश राजभर लगातार सभी दलों के नेताओं से मुलाकात कर सहयोग मांग रहे हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.