लखनऊः डीजल और पेट्रोल के महंगी कीमतों के खिलाफ कांग्रेस आज देशव्यापी प्रदर्शन कर रही है. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के नेतृत्व में पेट्रोल पंप पर प्रदर्शन होना था, लेकिन इससे पहले ही प्रदेश अध्यक्ष के आवास पर पुलिस ने उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया. काफी संख्या में यहां पर पुलिस बल तैनाती भी हो गई, लेकिन भारी संख्या में कार्यकर्ताओं को लल्लू के आवास पर इकट्ठा होता देख पुलिस प्रदेश अध्यक्ष समेत ने सभी को हिरासत में लिया.
आवास पर जमा हुए कार्यकर्ता
इसके पहले कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को जैसे ही यह सूचना मिली कि प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को उनके आवास पर हाउस अरेस्ट कर लिया गया है, वैसे ही कांग्रेस कार्यालय पर जमा हो रहे कार्यकर्ता धीरे-धीरे उनके आवास पर इकट्ठा होने लगे. इस दौरान पुलिस ने उन्हें समझाने का भी प्रयास किया है. हालांकि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और कार्यकर्ताओं का साफ कहना है कि जनता की आवाज उठाने से उन्हें कोई नहीं रोक सकता है. हरहाल में डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ प्रदर्शन करने पेट्रोल पंप पर पहुंचेंगे.
प्रदर्शन करने को अड़े कांग्रेस कार्यकर्ता, पुलिस ने सभी को हिरासत में लिया
प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने ईटीवी भारत से कहा कि यह सरकार जनता की आवाज उठाने से बार-बार रोक रही है, लेकिन उसे नहीं पता है कि जनता की आवाज उठाने से कांग्रेस पार्टी को कोई रोक नहीं सकता है हम हर हाल में प्रदर्शन करेंगे. कार्यकर्ताओं ने प्रदेश अध्यक्ष के आवास पर ही सरकार और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी शुरू कर दी. कार्यकर्ता जमीन पर बैठकर प्रदर्शन करने लगे, इस दौरान पुलिस और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच जमकर नोकझोक हुई. प्रदेश अध्यक्ष को हिरासत में लेते देख कार्यकर्ता भी जोरदार नारेबाजी करने लगे. हालांकि काफी संख्या में तैनात पुलिस बल के आगे कार्यकर्ताओं की एक भी न चली. पुलिस ने प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू समेत प्रदर्शन कर रहे सभी कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को जबरन गाड़ी में ठूंस दिया और इसके बाद बहुखंडी स्थित मंत्री आवास से उन्हें हिरासत में लेकर पुलिस रवाना हो गई.
प्रदेश अध्यक्ष के साथ शहर अध्यक्ष भी प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिए गए. कांग्रेस के शहर अध्यक्ष दिलप्रीत सिंह ने केंद्र की मोदी और योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि दोनों ही सरकारें जनता की आवाज को दबाने का काम कर रही हैं. पेट्रोल और डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं. सरसों के तेल की कीमतें काफी ज्यादा हैं. इसी को लेकर कांग्रेस प्रदर्शन कर रही थी लेकिन जनता की आवाज को दबा दिया गया है.
बढ़ती महंगाई ने बढ़ाई परेशान
देश की जनता एक तरफ जहां जानलेवा कोरोना वायरस से परेशान है, इसकी वजह से लॉकडाउन होने पर कारोबार और रोजगार ठप पड़ा है, वहीं दूसरी तरफ पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने इस परेशानी में आग में घी डालने का काम किया है. पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतो में बढ़ोतरी के साथ ही खाद्य पदार्थों समेत रोजमर्रा की कई जरूरी सामान भी महंगे हो गए हैं.
महंगाई से जनता परेशानी ने राजनीतिक रंग ले लिया. भारतीय नेशनल कांग्रेस ने इसका जरूरी सेवाओं पर सरकार की नीतियों का विरोध करते हुए आज देशव्यापी विरोध प्रदर्शन का आह्ववान किया है. काग्रेस कार्यकर्ता देश भर में सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे हैं. हालांकि उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन के पहले ही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू समेत सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया और प्रदर्शन को खत्म करा दिया.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.