मुंबई: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद बतौर रणनीतिकार काम न करने का ऐलान करने वाले प्रशांत किशोर आज एनसीपी प्रमुख शरद पवार के मुंबई स्थित घर पहुंचे हैं. जानकारी के मुताबिक 2024 में पीएम मोदी के सामने विपक्ष का चेहरा कौन होगा इसे लेकर विपक्षी दलों के बीच चर्चा हो रही है. इस बीच प्रशांत किशोर और पवार की मुलाकात कई मायने में हम हैं.
शिवसेना नेता संजय राउत कुछ दिनों पहले यूपीए-2 को लेकर अपनी बात रख चुके हैं. कांग्रेस के बिना यूपीए-2 का गठन करने को लेकर विपक्षी दलों में चर्चा हो रही है. सबसे बड़ी वजह है कांग्रेस पार्टी में फिलहाल नेतृत्व की कमी. ऐसे में विपक्ष नेतृत्व ताकतवर मोदी और बीजेपी के सामने कौन-कौन से चेहरे हो सकते हैं इस पर भी चर्चा होने की उम्मीद है. प्रशांत किशोर अब तक नरेंद्र मोदी, जगन मोहन रेड्डी, कैप्टन अमरिंदर सिंह, ममता बनर्जी और उद्धव ठाकरे की पार्टी के लिए भी बतौर रणनीतिकार काम कर चुके हैं.
यह मुलाकात मुंबई में शरद पवार के घर पर सुबह करीब साढ़े दस बजे शुरू हुई. वैसे एनसीपी की ओर से इस मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताया जा रहा है. बीते दिनों शरद पवार की तबीयत काफी खराब थी. इसके बाद कुछ लोगों ने उनके घर जाकर मुलाकात की थी. शरद पवार के दफ्तर से मिली जानकारी के मुताबिक दोनों आज लंच भी साथ में करेंगे.
शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस 2024 में साथ लड़ सकते हैं
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार ने गुरुवार को कहा था कि महाराष्ट्र में महा विकास आघाड़ी (एमवीए) सरकार अपना कार्यकाल पूरा करेगी. उन्होंने सहयोगी दल शिवसेना की प्रशंसा करते हुए कहा कि उस पर भरोसा किया जा सकता है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की मंगलवार को नयी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात और पवार की पिछले सप्ताह बीजेपी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात की पृष्ठभूमि में एनसीपी अध्यक्ष के ये बयान आए हैं.
एनसीपी के 22वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए पवार ने यह भी कहा कि महाराष्ट्र विकास आघाड़ी (शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस) अगले विधानसभा और लोकसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेगा. उन्होंने संकेत दिया कि तीनों दल 2024 में होने वाले चुनाव साथ में लड़ सकते हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.