पटना: बीजेपी एमएलसी टुन्ना पांडेय को पार्टी ने निलंबित कर दिया है. लगातार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ आपत्तिजनक बयानबाजी करने के बाद पार्टी ने उनके खिलाफ ये कार्रवाई की है. इस संबंध में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल की ओर से एक पत्र जारी किया गया है, जिसमें कहा गया है कि पार्टी के अनुशासन के विरुद्ध बयान दिए जाने के कारण बीजेपी अनुशासन समिति के अध्यक्ष विनय सिंह ने आपके (टुन्ना पांडेय) खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया था. इसके बावजूद आपने पार्टी के नियमों के विरुद्ध फिर एक बयान देकर यह सिद्ध कर दिया है कि आप अपने को पार्टी के दिशा-निर्देश से उपर मानते हैं. इसलिए आपको तत्काल प्रभाव से पार्टी से निलंबित किया जाता है.
जेडीयू एमएलसी ने कही थी ये बात
बता दें कि बातचीत में जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता और एमएलसी संजय सिंह ने टुन्ना पांडेय को पार्टी से बर्खास्त किए जाने की मांग की थी. संजय सिंह ने यहां तक कहा था कि टुन्ना पांडे को बीजेपी नेताओं का शह प्राप्त है. जेडीयू नेताओं की नाराजगी और टुन्ना पांडेय के रवैये को देखते हुए ये फैसला लिया गया है.
नीतीश कुमार के चेहरे पर हासिल की जीत
इधर, बीजेपी एमएलसी के निलंबन पर प्रतिक्रिया देते हुए जेडीयू प्रवक्तता अभिषेक झा ने कहा कि बीजेपी ने जेडीयू के दबाव में ही सही, लेकिन सही फैसला लिया है. टुन्ना पांडेय सरीखे नेताओं को तो पहले ही पार्टी से कान पकड़ कर बाहर कर देना चाहिए था. नीतीश कुमार के लिए ऐसे शब्दों का प्रयोग करने वाले नेताओं का यही हाल होगा. राज्य में कोई नेता नीतीश कुमार के सामने नहीं टिक सकता. नीतीश कुमार के चेहरे पर एनडीए ने कितनी बार जीत हासिल की है.
ओसामा से की थी मुलाकात
बता दें कि विवादों के बीच बीजेपी एमएलसी टुन्ना पांडेय कल दिवंगत नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा शहाब से मिलने पहुंचे थे. ओसामा से उन्होंने काफी देर तक बातचीत की थी. बातचीत कर बाहर निकलने के बाद वे मीडिया से मुखतीब हुए थे. इस दौरान उन्होंने कहा था, ” नोटिस का जवाब देने के लिए दस दिनों का समय दिया गया है. ऐसे में मैं अपने हिसाब से सोच समझ कर जवाब दूंगा. ये पहली बार नहीं है, कई बार ऐसा हो चुका है. अधिक से अधिक पार्टी मुझे पार्टी से बाहर निकाल देगी. इससे ज्यादा कुछ नहीं होने वाला. पार्टी से मेरा खर्च नहीं चलता और चुनाव मुझे लड़ना नहीं है. तो पार्टी को जो फैसला लेना हो वो ले.”
टुन्ना पांडेय ने कहा था, ” मैं डरने वाला व्यक्ति नहीं हूं. सिवान के लोग डरते नहीं हैं. मैं जनप्रतिनिधि हूं और जनता का हाथ जबतक मेरे सिर पर है मैं डरने नहीं वाला. मैं बिल्कुल मजबूती के साथ खड़ा और अपने किसी बयान

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.