नई दिल्ली: ओलंपियन सुशील कुमार और उसके साथी अजय को करीब 20 से भी ज्यादा दिनों की मैराथन के बाद दिल्ली पुलिस ने आखिरकार दिल्ली के ही मुंडका इलाके से गिरफ्तार कर लिया है. दिल्ली पुलिस ने सुबह सुशील कुमार और उसके साथी अजय को मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास से उस वक़्त गिरफ्तार किया, जब वह स्कूटी पर सवार होकर अपने साथी के साथ किसी से मिलने जा रहा था.
पुलिस को आशंका, रोहतक जा रहा था सुशील
पुलिस को आशंका है कि वह मुंडका से रोहतक की तरफ आगे बढ़ रहा था. जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने सुशील कुमार उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया. पिछले लगभग 20 से ज्यादा दिनों से सुशील कुमार फरार चल रहा था. पुलिस ने सुशील कुमार के ऊपर एक लाख का इनाम और उसके साथी अजय के ऊपर 50 हजार का इनाम रखा हुआ था. सुशील बार बार पुलिस को चकमा दे रहा था. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल, क्राइम ब्रांच और लोकल पुलिस की लगभग एक दर्जन टीम दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड और पंजाब में डेरा डाले हुए थीं. लेकिन जब जब पुलिस सुशील कुमार के नजदीक पहुंचती वह पहले ही भागने में कामयाब होता रहा. सूत्रों का कहना है कि सुशील लगातार सिम और मोबाइल फोन बदलकर पुलिस को चकमा दे रहा था.
सागर धनखड़ नाम के पहलवान की हुई थी हत्या
4 और 5 मई की रात को दिल्ली के मॉडल टाउन इलाके के छत्रसाल स्टेडियम के अंदर पहलवानों के दो गुटों के बीच में झगड़ा हो गया था. जिसमें सागर धनखड़ नाम के पहलवान की मौत हो गई थी. इस मामले में जांच के दौरान पुलिस को ओलंपिक चैंपियन सुशील कुमार का भी पता चला था. पुलिस को जांच के दौरान एक वीडियो भी मिला था, जिसमें सुशील कुमार पिटाई करता हुआ नजर आ रहा था.
फॉरेंसिक जांच में सूत्रों का कहना है कि यह वीडियो भी सही पाया गया था. अब पुलिस सुशील से पूछताछ कर यह पता लगाएगी कि आखिरकार वह फरारा के दौरान कहां-कहां, किस-किस शहर में रुका. वो कौन-कौन लोग थे, जिन्होंने उसकी मदद की. इतना ही नहीं आखिरकार 4 और 5 मई की रात को किस बात पर झगड़ा हुआ और कौन-कौन लोग झगड़े में सुशील कुमार के साथ में शामिल थे.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.