राज्य सरकार ने आगरा में व्यापारी से 43 लाख रुपये छीने जाने के मामले में वाणिज्य कर विभाग के दो और अधिकारियों एडीशनल कमिश्नर ग्रेड-दो एसआईबी डीएन सिंह व ज्वांइट कमिश्नर एसआईबी अभिषेक श्रीवास्तव को निलंबित कर दिया है। अपर मुख्य सचिव वाणिज्य कर संजीव मित्तल ने इस संबंध में मंगलवार को आदेश जारी कर दिया। इस मामले में पहले चार लोगों को निलंबित किया जा चुका है।
आगरा सचल दल इकाई पर जांच के दौरान व्यापारी प्रदीप कुमार अग्रवाल से 43 लाख रुपये छीने जाने का आरोप है। व्यापारी ने इसकी शिकायत की थी। जांच के बाद तत्काल प्रभाव से असिस्टेंट कमिश्नर अजय कुमार, वाणिज्य कर अधिकारी शैलेंद्र कुमार, सिपाही संजीव कुमार और गाड़ी चालक दिनेश कुमार को निलंबित करते हुए मुकदमा दर्ज कराया गया। अजय कुमार को मिर्जापुर शैलेंद्र कुमार को बांदा से संबद्ध किया गया है।
अपर मुख्य सचिव वाणिज्य कर ने इस मामले में दो और वरिष्ठ अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। ज्वाइंट कमिश्नर एसआईबी अभिषेक श्रीवास्तव आगरा पर आरोप है कि उन्होंने नियंत्रक एवं पर्यवेक्षणीय अधिकारी के रूप में अपने दायित्वों का सम्यक निर्वहन ठीक से नहीं किया। इसलिए उन्हें शिथिलता बरतने पर निलंबित कर दिया गया है। अभिषेक के खिलाफ अपर आयुक्त प्रदीप कुमार वाराणसी को जांच अधिकारी नामित किया गया है। अभिषेक निलंबन अवधि में वाणिज्य कर कार्यालय गाजियाबाद से संबद्ध रहेंगे।
एडीशनल कमिश्नर ग्रेड-दो एसआईवी वाणिज्य कर आगरा डीएन सिंह पर आरोप है कि उन्होंने अपने अधीन कार्यरत तत्कालीन असिस्टेंट कमिश्नर को मनमानी करने की छूट दी। इससे विभाग की छवि धूमिल हुई। इसलिए उन्हें निलंबत करते हुए एडीशनल कमिश्नर ग्रेड-एक वाणिज्य कर उच्च न्यायालय कार्य प्रयागराज से संबद्ध किया गया है। उनके खिलाफ भी प्रदीप कुमार को जांच अधिकारी नामित किया गया है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.