राज्य सड़क प्रबंधन समिति ने राज्य में सड़कों के चालू और नये कार्यों के लिए 3000 करोड़ रुपये खर्च किए जाने के प्रस्ताव को अनुमोदित कर दिया है। इसमें से 2200 करोड़ रुपये सड़कों की चालू योजनाओं पर और 800 करोड़ रुपये नई योजनाओं पर खर्च किए जाएंगे। ग्रामीण सड़कों के रखरखाव, नवीनीकरण और चौड़ीकरण जैसे कार्यों को प्रमुखता से किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की अध्यक्षता में सोमवार को राज्य सड़क प्रबंधन समिति की वर्चुअल आयोजित बैठक में ये फैसले लिए गए। बैठक के दौरान समिति के सदस्यों ने राज्य में और बेहतर रोड नेटवर्क के लिए कई अहम सुझाव दिए।
भीड़भाड़ से निजात के लिए बाईपास बनाने की कार्ययोजना बनेगी
केशव प्रसाद मौर्य ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्माण कार्यों में तेजी लाई जाए और मानक और गुणवत्ता का विशेष रूप से ध्यान रखा जाए। जहां कहीं भी कार्य संचालित हो रहे हों वहां पर कोविड-19 के तहत निर्धारित प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों, शहरों ,कस्बों आदि में बाईपास बनाने की कार्ययोजना बनाई जाए। बैठक के दौरान समिति ने कोरोना संक्रमण से दिवंगत लोगों की आत्मा की शांति करते हुए दो मिनट का मौन रखा।
इस बैठक में राज्य मंत्री लोक निर्माण विभाग चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, सांसद लखीमपुर खीरी अजय मिश्र, सांसद फूलपुर केसरी देवी पटेल, विधायक सिकंदरपुर (बलिया) संजय यादव, विधायक बरेली अरुण कुमार, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण, विभागाध्यक्ष पीके सक्सेना, वित्त, परिवहन, पर्यटन, औद्योगिक विकास, सीआईआई ,मोटर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रतिनिधि भी शामिल थे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.