priyankaभाजपा कितनी बात करें कि महिलाओं को पूर्ण सुरक्षा दी जायेगी। महिलाओं पर अत्याचार रूकेगा। लेेकिन अपने ही आदमियों की वजह से मुंह की खानी पड़ रही है। आखिर सच्चाई छुप भी तो नहीं सकती है। कांग्रेस की प्रचारक प्रियंका गांधी वाड्रा ने आज भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी और उनका दाहिना हाथ माने जाने वाले भाजपा नेता अमित शाह को गुजरात में एक महिला की जासूसी प्रकरण पर घेरते हुए कहा कि महिला अधिकारों की बात करने वाले कमरों में बैठकर महिलाओं की बातें सुनते हैं, जो भी ऐसा करता है उसे पार्टी से बाहर निकाला जाना चाहिये।
प्रियंका ने अपनी मां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की उम्मीदवारी वाले क्षेत्र रायबरेली के उंचाहार विधानसभा क्षेत्र के चड़रई चौराहे पर आयोजित सभा में गुजरात में एक महिला की जासूसी कराने के आरोप में फंसे भाजपा नेता अमित शाह पर कटाक्ष करते हुए कहा हम महिला अधिकारों की बात करते हैं जबकि दूसरे लोग कमरों में बैठकर महिलाओं की बातें सुनते हैं। अगर वो नहीं सुनते हैं तो जो भी सुनता है, उसे पार्टी से बाहर निकालें। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग महिला अधिकारों की बड़ी-बड़ी बातें करते हैं लेकिन उनके चेहरे से नकाब हट चुका है।
गौरतलब है कि पिछले साल नवम्बर में भाजपा महासचिव और पार्टी के उत्तर प्रदेश प्रभारी अमित शाह गुजरात में एक महिला की अवैध रूप से जासूसी कराने के मामले में फंसे थे। इस मामले की छींटें गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी पर भी पड़ी थीं।प्रियंका ने आज अपने रायबरेली दौरे के तीसरे दिन कई स्थानों पर सभाएं कीं जिनमें उनका मुख्य ध्यान महिला अधिकारों और भ्रष्टाचार पर रहा। उन्होंने महिला अधिकारों की बात लगभग हर जगह की।

कांग्रेस की स्टार प्रचारक ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्षी पार्टियों के दावों को खोखला बताते हुए कहा कि वे दल बेईमानी खत्म करने की तो बात करते हैं लेकिन यह नहीं बताते कि वे ऐसा कैसे करेंगे। कांग्रेस ने सूचना का अधिकार कानून लागू करके बताया है कि वह भ्रष्टाचार को कैसे रोकेगी।
सिद्धौर में आयोजित नुक्कड़ सभा में प्रियंका ने कहा विपक्षी दल भ्रष्टाचार हटाने की बात करते हैं लेकिन उन्हें यह बताना चाहिये कि वे इस बुराई को कैसे हटाएंगे। कांग्रेस ने सूचना का अधिकार कानून देकर यह बताया कि हम कैसे भ्रष्टाचार रोकेंगे। कांग्रेस ने सूचना का अधिकार कानून लागू करके भ्रष्टाचार को रोका। उन्होंने विपक्षी दलों के बारे में कहा आपके बीच लोग प्रचार करने आते हैं, आप उनसे पूछिये कि विकास के लिये वे क्या कर रहे हैं। उन्होंने आपके लिये क्या किया है। लोग आते हैं, भाषण देते हैं लेकिन आपके लिये क्या करेंगे, यह नहीं बताते।
प्रियंका ने कहा यह देश का चुनाव है। यह एकता के लिये चुनाव है, सोच समझकर वोट करें। जब मतदान करने जाएं तो सोचें कि आपको कैसी राजनीति चाहिये, फूट डालने वाली, साम्प्रदायिकता फैलाने वाली, आपस में लड़ाने वाली या ऐसी राजनीति जो सबको साथ लेकर चलती है। उन्होंने कहा इसमें कोई शक नहीं है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.