मथुराः मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को कोविड-19 की व्यवस्थाओं को लेकर मथुरा दौरे पर पहुंचे. पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु चिकित्सालय विज्ञान विश्वविद्यालय परिसर में सीएम का हेलीकॉप्टर उतरा. इसके बाद सीएम का काफिला जिला अस्पताल पहुंचा. यहां सीएम ने स्वास्थ सेवाओं का निरीक्षण किया और मरीजों से हालचाल भी पूछा. इसके बाद मथुरा वृंदावन विकास प्राधिकरण के सभागार में बने कोविड कमांड सेंटर में सीएम ने अधिकारियों के साथ बैठक की.
निरंतर घट रही कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या
निरीक्षण के बाद सीएम योगी ने कहा कि मथुरा में प्रतिदिन टेस्टिंग की क्षमता बढ़ाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया गया है. उन्होंने कहा कि निरंतर कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में कमी आ रही है. मथुरा में 96 वेंटीलेटर, 56 ऑक्सीजन उपलब्ध कराए गए हैं. बेड की क्षमता बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं. मथुरा में 1,58,200 लोगों ने टीकाकरण कराया है. सीएम ने कहा कि 18 साल से अधिक युवा भी टीकाकरण में भाग लिया है. पिछले कुछ दिनों में ही 6000 लोगों को वैक्सीन उपलब्ध कराई गई. जिले में 11 नए ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत हुए हैं. आने वाले दिनों में ये ऑक्सीजन प्लांट जनपद को आत्मनिर्भर बनाएंगे. उन्होंने कहा कि कोविड एक महामारी है, इसे फ्लू मानना हमारी गलती होगी. इसलिए लोग इस बीमारी को न छुपाएं. समय पर सही उपचार मिलेगा तभी इस बीमारी को हरा सकते हैं.
57 हजार राजस्व गांव चलाया जा रहा स्क्रीनिंग अभियान
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश में 57 हजार राजस्व गांव में वर्तमान में स्क्रीनिंग का विशेष अभियान निगरानी समिति आरआरटी के माध्यम से प्रारंभ किया गया है. अभियान के तहत ग्रामीण क्षेत्र में निगरानी समिति स्क्रीनिंग के साथ मेडिकल किट वितरण कर रही है. आरआरटी के माध्यम से एंटीजन टेस्ट 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट साथ एक अभियान चलाया जा रहा है. वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने भी इस अभियान की सराहना की है. सीएम ने कहा कि हमें हेल्थ वर्कर को उत्साहित करना चाहिए, जिससे उनका मनोबल नहीं टूटे. जिम्मेदार पदों पर बैठे कुछ लोग टिप्पणी कर अभियान को कमजोर कर रहे हैं. सीएम ने कहा कि लोग सरकार द्वारा जारी की गई गाइड लाइंस का पालन करें और सोशल डिस्टेंस बनाए रखने के साथ मास्क जरूर पहनें.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.