लखनऊ: सीएम योगी ने बुधवार को टीम-9 के साथ बैठक कर कोविड व्यवस्था की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि प्रदेश में मांग के सापेक्ष ऑक्सीजन की आपूर्ति को बेहतर करने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं. बीते 24 घंटों में 1014.53 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का वितरण किया गया है. इसमें रीफिलर को 619 एमटी और मेडिकल कॉलेजों को 313 एमटी ऑक्सीजन उपलब्ध कराई गई.
161 नवीन ऑक्सीजन प्लांट की होगी स्थापना
सीएम योगी ने कहा कि ‘पीएम केयर्स’ के माध्यम से प्रदेश के सभी जिलों में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना की स्वीकृति मिल गई है. इसके साथ ही केंद्र सरकार ने जिला मुख्यालयों के सभी सरकारी अस्पतालों पर प्लांट स्थापना के लिए प्रस्ताव मांगे हैं. ऐसे में जिला मुख्यालयों पर क्रियाशील जिला अस्पतालों, महिला चिकित्सालयों, सीएचसी स्तर पर आक्सीजन प्लांट स्थापना के प्रस्ताव को तत्काल भेजा जाना उचित है. इस प्रकार पीएम केयर्स के सहयोग से 161 नवीन ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना भविष्य के दृष्टिगत अत्यंत उपयोगी सिद्ध होगे.
ऑक्सीजन की बर्बादी न होने पाए
ऑक्सीजन की मांग आपूर्ति और खर्च में संतुलन बनाने के लिए कराए जा रहे ऑक्सीजन ऑडिट के अच्छे परिणाम मिले हैं. एक सप्ताह पूर्व तक मेडिकल कॉलेजों में 300-350 मीट्रिक टन की मांग होती थी, अब वह घट कर 250-300 एमटी तक हो गई है. ऑक्सीजन वेस्टेज रोकने के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जाएं. बीते कुछ दिनों से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में मांग बढ़ी है. इस संबंध में एसीएस होम के स्तर से आवश्यक कदम उठाए जाएं.
धार्मिक मान्यताओं के आधार पर हो अंत्येष्टि
कोविड के कारण होने वाली हर मौत दुःखद है. मृतकों के परिजनों के प्रति प्रदेश सरकार की संवेदनाएं हैं. अंत्येष्टि की क्रिया मृतक की धार्मिक मान्यताओं के अनुरूप ससम्मान किया जाए. अंत्येष्टि क्रिया को सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिए प्रदेश सरकार वित्तीय सहायता भी दे रही है. किसी भी मृतक की अंत्येष्टि के लिए जल प्रवाह की प्रक्रिया पर्यावरण के अनुकूल नहीं है. इस संबंध में धर्मगुरुओं से संवाद किया जाए, लोगों को जागरूक करने की आवश्यक्ता है.
घटने लगी संक्रमण की दर
कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट की नीति के अनुरूप सभी प्रदेशवासियों के जीवन और जीविका की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी जरूरी प्रयास किए जा रहे हैं. संक्रमण दर लगातार कम होता जा रहा है, जबकि रिकवरी दर हर दिन बेहतर हो रही है. विगत 24 घंटों में प्रदेश में 18 हजार 125 नए कोविड केस की पुष्टि हुई है. इसी अवधि में 26 हजार 712 लोग स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए हैं. वर्तमान में प्रदेश में दो लाख छह हजार 615 एक्टिव केस हैं. यह प्रदेश में संक्रमण के पीक 3.10 लाख से लगभग एक लाख चार हजार कम हैं. 30 अप्रैल से 11 मई तक 11 दिनों में संक्रमण में आई यह कमी संतोष देने वाली है. अब तक 13 लाख 40 हजार 251 प्रदेशवासियों ने कोविड को हराया है.
प्रदेश के प्रत्येक व्यक्ति को लगे टीका
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश का एक भी नागरिक कोविड टीका-कवर से वंचित न हो, इसके लिए विशेष प्रबंध किया जाए. कोविड टीकाकरण की प्रक्रिया प्रदेश में चल रही है. 45 वर्ष से अधिक और 18-44 आयु वर्ग के लोगों को कोविड सुरक्षा कवर प्रदान करने में उत्तर प्रदेश प्रथम स्थान पर है. अब तक एक करोड़ 11 लाख 63 हजार 988 लोगों को पहली डोज और 29 लाख 35 हजार 607 लोगों ने वैक्सीन की दोनों डोज प्राप्त कर ली है. इस तरह एक करोड़ 40 लाख 99 हजार 95 कोविड वैक्सीन एडमिनिस्टर हुए हैं. प्रदेश के 18 जिलों में 18-44 आयु वर्ग के लोगों के दो लाख 16 हजार 897 लोगों ने टीका-कवर प्राप्त कर लिया है. इनमें 49 हजार 744 लोग बीते 24 घंटों में वैक्सीनेट हुए हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.