नई दिल्ली/नोएडा : कोरोना का प्रकोप लगातार जारी है. दूसरी लहर में मौत का आलम ऐसा है कि कई जगह पूरे परिवार तबाह हो गए हैं. शहरों तक सीमित माने जाने वाले वायरस का प्रसार अब गांवों की ओर हो गया है और गांवों से भयावह तस्वीरें सामने आ रही हैं.
नोएडा वेस्ट के जलालपुर गांव में एक परिवार के ऊपर उस समय दुखों का पहाड़ टूट पड़ा, जब एक बेटे को मुखाग्नि देकर श्मशान से लौटे पिता के कंधों का दूसरे बेटे की अर्थी इंतजार कर रही थी. पिता ने किसी सपने में भी नहीं सोचा होगा कि एक बेटे के अंतिम संस्कार के बाद उसे दूसरे बेटे को कंधा देना पड़ेगा.
मौतों का सिलसिला जारी
जलालपुर गांव में रहने वाले अतर सिंह के बेटे पंकज की अचानक मौत हो गई, जिसको मुखाग्नि देकर सभी घर पहुंचे ही थे कि दूसरे बेटे दीपक ने दम तोड़ दिया. दीपक भी कोरोना से लड़ रहा था. घर से एक ही दिन दो जवान बेटों का अर्थी उठते देख मां पूरी तरीके से टूट गई. बताया जा रहा है कि गांव में लगातार मौतों का सिलसिला जारी है. बीते 10 दिनों में करीब 18 लोगों की मौत हो चुकी है.
गांव में दहशत
शहरों के बाद गांवों को चपेट में लेते कोरोना संक्रमण के बाद गांवों में हालात खराब होते जा रहे हैं. वहींं गांव में अस्पताल की कमी होने की वजह से चुनौतियां और बढ़ जाती हैं.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.