लखनऊ: कोरोना महामारी के बीच सूबे की राजधानी लखनऊ में एक अजीबो-गरीब घटना सामने आई है. बीती 3 मई को थाईलैंड से आई एक कॉल गर्ल की डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोना संक्रमण से मौत हो गई. विभूति खंड थाना क्षेत्र में इस सनसनीखेज घटना से हड़कंप मच गया. पुलिस ने पहले तो थाईलैंड एंबेसी में संपर्क कर उसके परिजनों को डेडबॉडी हैंडओवर करने की कोशिश की, लेकिन जब कामयाब नहीं हुए तो बीते शनिवार को व्यापारी के बेटे की मौजूदगी में लखनऊ बैकुंठ धाम में उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया.
पुलिसके मुताबिक, राजधानी के एक प्रतिष्ठित व्यवसाई के बेटे ने एजेंट सलमान के जरिए मृत्यु के 10 दिन पूर्व कॉलगर्ल को सात लाख रुपये खर्च कर थाईलैंड से लखनऊ बुलाया था. बीते 31 मार्च की रात अचानक कॉल गर्ल की तबीयत खराब हुई तभी उसे विभूतिखंड स्थित डॉक्टर राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया था.
खंगाली जा रही कॉल डिटेल
थाईलैंड से आई कॉलगर्ल की मौत के बाद पुलिस अब राजधानी में पांव पसार रहे इंटरनेशनल सेक्स रैकेट के बारे में जानकारी कर रही है. पुलिस कॉलगर्ल के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल भी खंगाल रही है. पुलिस का कहना है कि यह भी ट्रेस किया जा रहा है कि इस कॉलगर्ल के संपर्क में कौन-कौन लोग थे. पुलिस के अनुसार, यह कॉलगर्ल राजस्थान के रहने वाले एक ट्रैवल एजेंट सलमान के संपर्क में थी. उसी ने इसे लखनऊ भेजा था. पुलिस अब इस एजेंट को भी तलाश रही है. पुलिस की मानें तो कॉल गर्ल के मोबाइल फोन पर आखिरी कॉल भी राजस्थान से आई थी.

व्यवसाई के बेटे ने खुद थाईलैंड एंबेसी से किया था संपर्क

इंस्पेक्टर विभूति खंड चंद्रशेखर सिंह की मानें तो जांच में सामने आया है कि व्यापारी के बेटे ने कॉलगर्ल की तबीयत बिगड़ने पर खुद थाईलैंड एंबेसी को फोन करके इसकी जानकारी दी थी. इसके बाद एंबेसी ने भारत के विदेश मंत्रालय की मदद से उसे अस्पताल में भर्ती कराया था.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.