नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक अहम फैसला लिया है. मंत्रालय ने कोरोना मरीजों के कोविड फैसिलिटी में भर्ती कराने की राष्ट्रीय नीति में बदलाव किया है. कोविड हेल्थ फैसिलिटी में भर्ती के लिए अब कोविड पॉजिटिव रिपोर्ट अनिवार्य नहीं होगा.
स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 का संदिग्ध मामला CCC, DCHC या DHC के संदिग्ध वार्ड में भर्ती किया जाएगा. किसी भी मरीज को किसी भी हालत में सेवाएं देने से मना नहीं किया जाएगा. इनमें ऑक्सीजन या आवश्यक दवाएं जैसी दवाएं शामिल हैं,  भले ही रोगी एक अलग शहर से संबंधित हो.

केंद्रीय स्वास्थय मंत्रालय ने कहा कि किसी भी मरीज को इस आधार पर प्रवेश देने से मना नहीं किया जाएगा कि वह उस वैध पहचान पत्र को दिखाने में सक्षम नहीं है जो उस शहर से संबंधित नहीं है जहां अस्पताल स्थित है. मंत्रालय ने कहा कि अस्पताल में प्रवेश जरूरत के आधार पर होना चाहिए.
कोविड से रिकॉर्ड 4,187 मौत 
देश में एक दिन में कोविड-19 से रिकॉर्ड 4,187 मरीजों की मौत होने के बाद मृतक संख्या 2,38,270 पर पहुंच गई है जबकि 4,01,078 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 2,18,92,676 हो गए हैं.
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार सुबह आठ बजे तक के आंकड़ों के मुताबिक 37,23,446 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है जो कुल मामलों का 17.01 प्रतिशत है जबकि कोविड-19 से स्वस्थ होने की राष्ट्रीय दर घटकर 81.90 प्रतिशत हो गई है. आंकड़ों के मुताबिक बीमारी से स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या 1,79,30,960 हो गई है जबकि संक्रमण से मृत्यु दर 1.09 फीसदी दर्ज की गई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.