इटली की मदद से ग्रेटर नोएडा में आईटीबीपी के अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगया गया है. प्राकृतिक ऑक्सीजन से ही ऑक्सीजन उत्पादन और आपूर्ति करने में सक्षम इस संयंत्र से एक समय में 100 मरीजों को हाई स्पीड ऑक्सीजन मुहैया करवाई जा सकती है. यह संयंत्र सिर्फ 48 घंटे में स्थापित कर दिया गया है.
आईटीबीपी के ग्रेटर नोएडा‌ स्थित सीएपीएफ रेफरल अस्पताल में गुरूवार के इटली के सहयोग से स्थापित एक ऑक्सीजन प्लांट को इटली के भारत में राजदूत विन्सेन्ज़ो डी लुका ने एक सादे समारोह में स्विच ऑन किया और संयंत्र को इस अस्पताल को समर्पित किया.
दोनों देशों के बीच मित्रता और एकजुटता का प्रतीक है
लुका ने इस कार्यक्रम में बोलते हुए कहा कि संयंत्र स्थायी रूप से इस अस्पताल में स्थापित हुआ है और यह दोनों देशों के बीच मित्रता और एकजुटता का प्रतीक है. आपको बता दें कि पिछले साल भारत में कोरोना से ग्रस्त 17 इतालवी पर्यटकों का इलाज दिल्ली के छावला में आईटीबीपी के कोविड सेंटर में किया गया था.
इस अस्पताल में 100 से अधिक COVID-19 बेड उपलब्ध हैं
इस मौके पर अस्पताल और इतालवी दूतावास और सबंधित कंपनी के अधिकारी भी मौजूद थे. केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों को समर्पित इस अस्पताल में 100 से अधिक COVID-19 बेड उपलब्ध हैं, जिनमें अब इस प्लांट के माध्यम से ही निर्बाध मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति शुरू हो गई है.
कोरोना काल में इस अस्पताल ने सेवारत और सेवानिवृत्त केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों और उनके परिवारों के इलाज में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.