लखनऊः अस्पतालों की धन उगाही की कारस्तानी की शिकायत सीएम के पास पहुंच गई है. जिसे देखते हुए सीएम योगी ने ऐसे अस्पतालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.
सीएम ने DM और CMO को दिए निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-9 के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान कहा कि विभिन्न जिलों में निजी अस्पताल बेड, ऑक्सीजन का कृत्रिम अभाव पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं. कुछ निजी अस्पतालों में शासन के तय शुल्क से कई गुना अधिक की वसूली करने की घटनाओं की जानकारी मिल रही है. जो कि उचित नहीं है. इस तरह की गतिविधियां आपराधिक हैं. कुछ जिलों में इसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की गई है. सीएम ने कहा कि सभी डीएम, सीएमओ ऐसे अस्पतालों पर नजर रखें और सख्ती के साथ कार्रवाई करें. मरीज और उसके परिजन का किसी भी प्रकार से उत्पीड़न स्वीकार नहीं किया जा सकता.

परिजनों को अस्पताल नहीं दे रहे मरीजों की जानकारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि शासन के स्पष्ट निर्देशों के बाद भी कई कोविड अस्पताल न तो परिजन को उनके मरीज के स्वास्थ्य की दैनिक जानकारी दे रहे हैं और न ही खाली बेड की संख्या सार्वजनिक कर रहे हैं. डीएम और सीएमओ ऐसे अस्पतालों से वार्ता कर व्यवस्था ठीक कराएं. नहीं सुधरने वालों के खिलाफ कार्रवाई करें. चिकित्सा शिक्षा मंत्री स्तर से ऐसे अस्पतालों की निगरानी की जाए. एल-1, एल-2 और एल-3 बेड की जिलावार समीक्षा की जाए.

दिव्यांग एवं गर्भवती महिला कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्ट तौर पर निर्देश दिए हैं कि सभी सरकारी एवं निजी कार्यालयों में बीमार, दिव्यांग कर्मचारी और गर्भवती महिला कर्मचारियों को ‘वर्क फ्रॉम होम’ की सुविधा दी जाए. इन्हें कार्यालय आने की कोई अनिवार्यता नहीं है. इसी तरह, सभी सरकारी कार्यालयों में 50 फीसदी कार्मिक क्षमता से ही काम लिया जाए. एक समय में एक तिहाई से अधिक कर्मचारी उपस्थित न रहें. इस व्यवस्था को तत्काल प्रभावी बनाया जाए. आपको बता दें सचिवालय में ये व्यवस्था पहले से ही लागू की जा चुकी है. अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन ने इसको लेकर शासनादेश भी जारी किया है. विद्यालय, महाविद्यालय और विश्वविद्यालयों में कोविड को लेकर पहले से अवकाश घोषित कर दिया गया है.

आगरा में बन रहा 500 बेड का अस्पताल

सीएम ने कहा कि आगरा में भारतीय सेना की मदद से एल-2 श्रेणी का 500 बेड का कोविड अस्पताल तैयार किया जा रहा है. एसजीपीजीआई, केजीएमयू में बेड विस्तार का काम चल रहा है. हमें मिशन मोड में काम करते हुए बेड की वर्तमान क्षमता को दोगुना करने की जरूरत है. सभी जिलों में इस काम को शीर्ष प्राथमिकता दी जाए.

निर्माण कार्य जारी रखे जाएं

सीएम योगी ने कहा है कि एक्सप्रेसवे, हाईवे, मेडिकल कॉलेज सहित निर्माण की सभी बड़ी परियोजनाएं सतत जारी रहें. ये समयबद्ध रूप से पूरी हों. जिन परियोजनाओं में न्यूनतम 50 लोग कार्यरत हों, वहां कोविड केयर सेंटर स्थापित कराया जाए. पुलिस लाइन में भी कोविड केयर सेंटर की स्थापना की जाए.

ऑक्सीजन आपूर्ति में तेजी से इजाफा

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सभी जिलों को जरूरत के अनुसार ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए सभी आवश्यक प्रबन्ध किये जा रहे हैं. केंद्र से भी सहयोग मिल रहा है. 6 मई को 1032 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का वितरण किया गया. इसमें केवल रीफलर के माध्यम से ही 612 एमटी की आपूर्ति प्रदेश में की गई. वाराणसी में जल्द शुरू हो रहे डीआरडीओ के कोविड अस्पताल को ट्रायल के लिए 10 एमटी ऑक्सीजन उपलब्ध कराई गई. कल तक जामनगर (गुजरात) से 80 टन ऑक्सीजन का टैंकर प्रदेश में और जायेगा. दो ऑक्सीजन एक्सप्रेस आज रात तक और आ रही हैं. मुख्यमंत्री ने एसीएस होम को निर्देश दिया कि उनके स्तर से सभी जिलों की जरूरत को देखते हुए एक विस्तृत कार्य योजना तैयार की जाए. ऑक्सीजन वेस्टेज को न्यून्तम रखने और आपूर्ति बढ़ाने के लिये सभी जरूरी प्रयास किए जाएं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.