नई दिल्ली : देश में बीते 24 घंटों में कोरोना के करीब तीन लाख 68 हजार मामले सामने आए हैं. इस बीच कोरोना के हालात, ऑक्सीजन की उपलब्धता और कोरोना से लड़ाई में उठाए गए कदमों की जानकारी देने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल, गृह मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी, एम्स के निदेशक डॉ.रणदीप गुलेरिया मीडिया के सामने आए.
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया है कि पिछले 15 दिनों में कोरोना संक्रमण में कमी आई है. महाराष्ट्र, दिल्ली और झारखंड में कोरोना संक्रमण कम हुआ है. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में भी कोरोना संक्रमण के मामलों में गिरावट दर्ज की गई है. हालांकि, इसके बावजूद बचाव के उपाय अपनाने में कोई कोताही नहीं बरती जानी चाहिए.
सामूहिक रूप से हमें ट्रांसमिशन की श्रृंखला को तोड़ने पर ध्यान देने की जरूरत है. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक देशभर में कोरोना संक्रमण के 34 लाख से अधिक मामले सक्रिय हैं. हालांकि, कुछ हद तक कोरोना के मामलों में कमी आई है.
दिल्ली, मध्य प्रदेश सहित कुछ राज्यों में रोज तेजी से बढ़ रहे मामलों में कमी के संकेत दिखाई दे रहे हैं. हम रिकवरी में भी सकारात्मक दृष्टिकोण देख रहे हैं. 2 मई को रिकवरी रेट 78% था और 3 मई को यह लगभग 82% तक हो गया.
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया भारत का रिकवरी रेट 81.77% है. देश में करीब 34 लाख सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है. अब तक संक्रमण से 2 लाख के करीब मृत्यु दर्ज़ की गई है. पिछले 24 घंटे में देश में 3,417 लोगों की मौत हुई है.
उन्होंने बताया कि देश में 12 राज्य ऐसे हैं जहां 1 लाख से भी ज्यादा सक्रिय मामले हैं. सात राज्यों में 50,000 से एक लाख के बीच सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है. 17 राज्य ऐसे हैं जहां 50,000 से भी कम सक्रिय मामले हैं.
उन्होंने कहा कि कुछ राज्यों आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, हरियाणा, कर्नाटक, केरल, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, इन्हों एहतियात बरतने की जरूरत है.
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने कहा ‘हम चिकित्सा प्रयोजनों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन का उपयोग करने की योजना बना रहे हैं. औद्योगिक इकाइयां जो ऑक्सीजन बनाती हैं हम उन ऑक्सीजन प्लांट के पास कोविड केयर सेंटर बनाने जा रहे हैं.’
इसके साथ ही सरकार के मुताबिक एमबीबीएस फाइनल ईयर के छात्र भी ड्यूटी में लगाए जाएंगे.
‘देश में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध’
गृह मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी ने कहा कि देश में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध है. एक अगस्त 2020 को ऑक्सीजन का उत्पादन देश में 5,700 मीट्रिक टन था, जो अब लगभग 9,000 मीट्रिक टन हो गया है. हम विदेशों से भी ऑक्सीजन का आयात कर रहे हैं.’
ज्यादा सीटी स्कैन बढ़ा सकता है खतरा : गुलेरिया
एम्स के निदेशक डॉ.रणदीप गुलेरिया ने कहा आजकल बहुत ज़्यादा लोग सीटी स्कैन करा रहे हैं. जब सीटी स्कैन की जरूरत नहीं है तो उसे कराकर आप खुद को नुकसान ज़्यादा पहुंचा रहे हैं क्योंकि आप खुद को रेडिएशन के संपर्क में ला रहे हैं. इससे बाद में कैंसर होने की संभावना बढ़ सकती है.
इसके साथ ही गुलेरिया ने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे लोग अपने डॉक्टर से संपर्क करते रहें. सेचुरेशन 93 या उससे कम हो रही है, बेहोशी जैसे हालात हैं, छाती में दर्द हो रहा है तो एकदम डॉक्टर से संपर्क करें.
गौरतलब है कि भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 3,68,147 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,99,25,604 पहुंच गई है. वहीं, इस दौरान 3,417 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 2,18,959 हो गई है.
वर्तमान में देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 34,13,642 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,62,93,003 है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.