मध्य प्रदेश के कई जिलों में कोरोना बेकाबू होता जा रहा है. शिवराज सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों के बावजूद नए कोरोना संक्रमण के केस में कोई कमी आती हुई नहीं दिखाई दे रही है. ऐसे में मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से सार्वजनिक स्वास्थ्य क्षेत्र में उठाए गए कदमों को लेकर केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने गुरुवार को कोविड-19 पर उच्चस्तरीय समीक्षा बैठक की.

 

इस बैठक के दौरान शिवराज सरकार को सलाह दी गई कि ऑक्सीजन बेड्स और आईसीयू बेड्स बढ़ाए और और स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करे. इसके साथ ही, केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव ने टेस्ट, ट्रैक, ट्रीट और वैक्सीनेट को पांच गुणा बढ़ाने पर ध्यान केन्द्रित किया.
मध्य प्रदेश में एक महीने के लिए बोर्ड परीक्षा स्थगित
इससे पहले, कोरोना की बेकाबू रफ्तार को देखत हुए मध्य प्रदेश में बोर्ड परीक्षा एक माह के लिए स्थगित कर दी गई है.  राज्य में बढ़ते कोरोना के मामलों के मद्देनजर ये फैसला लिया गया है. गौरतलब है कि राज्य में 10वीं और 12वीं की बोर्ड की परीक्षाएं क्रमश: 30 अप्रैल और 01 मई से शुरू होने वाली थी. अब जब बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं तो जल्द ही नई तारीखों का भी ऐलान किया जाएगा. राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तरफ से ये फैसला किया गया है.
वहीं बीते दिन मध्य प्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने बताया था कि राज्य में कोरोना के कहर को देखते हुए 15 जून 2021 तक क्लास 1 से 8वीं तक के सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं. वहीं 10वीं व 12वीं की बोर्ड की परीक्षाएं भी स्थगित की जा रही हैं. कुछ दिनों में ही इन परीक्षाओं की नई तारीखों का ऐलान किया जाएगा. गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में हाल ही में 10वीं और 12वीं की थ्योरी परीक्षाओं के एडमिट कार्ड जारी किए गए थे. अब जब परीक्षाएं स्थिगित हो गई हैं तो फिर से फ्रेश एडमिट कार्ड्स भी जारी किए जाएंगे.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.