लखनऊः प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत के पहले चरण के चुनाव के लिए प्रचार मंगलवार को शाम 6:00 बजे थम गया. पहले चरण में 18 जिलों में 15 अप्रैल को मतदान होगा. 15 अप्रैल को चुनाव कराए जाने को लेकर बुधवार को सभी 18 जिलों के जिला मुख्यालयों से मतदान केंद्र के लिए पोलिंग पार्टियां रवाना होंगी. वहीं, चुनाव को लेकर विस्तृत दिशा-निर्देश निर्वाचन आयोग द्वारा सभी डीएम को दिए गए हैं.
कोविड प्रोटोकॉल के पालन के सख्त निर्देश
15 अप्रैल को सुबह 7:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक सभी संबंधित 18 जिलों में लोग अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. राज्य निर्वाचन आयोग ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतदान केंद्रों पर कोविड-19 प्रोटोकॉल का शत प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराने के सख्त निर्देश सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों, जिलाधिकारियों और पुलिस कप्तानों को दिए हैं.
3 लाख से अधिक लोगों ने किया था नामांकन
पहले चरण के पंचायत चुनाव में ग्राम पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्य के पदों के लिए सवा तीन लाख लोगों ने नामांकन किया था. जिनमें तमाम लोगों के नामांकन पत्र खारिज हो गए तो कुछ ने अपने नाम वापस ले लिए. अब चुनाव मैदान में 2 लाख 98 हजार उम्मीदवार बचे हैं.
इन जिलों में होगा मतदान
प्रथम चरण का चुनाव 15 अप्रैल को सहारनपुर, गाजियाबाद, रामपुर, बरेली, हाथरस, आगरा, कानपुर नगर, झांसी, महोबा, प्रयागराज, रायबरेली, हरदोई, अयोध्या, श्रावस्ती, संत कबीर नगर, गोरखपुर, जौनपुर व भदोही में होगा. संबंधित 18 जिलों में चुनाव बेहतर ढंग से और शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न कराए जाने को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से दिशा निर्देश जारी किए गए हैं.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.