उत्तर प्रदेश के इटावा में शनिवार शाम एक भीषण सड़क हादसे में डीसीएम पलटने से 11 लोगों की मौत हो गई। घटना में 41 से अधिक लोग गंभीर रूप से घायल हैं। अभीतक मिली जानकारी के अनुसार आगरा निवासी वीरेंद्र सिंह बघेल के घर पर छह माह पहले बेटे का जन्म हुआ था।
बेटे के जन्म की खुशी में मन्नत पूरी होने पर वह परिवार व रिश्तेदारों के साथ लखना स्थित कालका मंदिर में झंडा चढ़ाने के लिए शनिवार को दोपहर 11 बजे बजे 60 से 70 लोगों को लेकर घर से डीसीएम में सवार होकर निकले थे। इटावा में चकरनगर रोड पर उदी चौराहे से लगभग 10 किमी की दूरी पर अनियंत्रित होकर सडक किनारे  25 फीट गहरी खाई में गिर गयी।
डीसीएम पलटने से कोहराम मच गया। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से सभी बाहर निकलवाया। हादसे में 11 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 41 लोग घायल बताए जा रहे हैं। पुलिस ने सभी घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया है।
एसएसपी डॉ. ब्रजेश कुमार सिंह भी सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे। पुलिस ने रस्सी डालकर लोगों को खाई से निकलवाया और जिला अस्पताल इलाज के लिए भिजवाया गया है। एसएसपी डॉ. ब्रजेश कुमार सिंह ने बताया कि घटना में 11 लोगों की मौत हो गई है और 41 लोग घायल हैं। यह सभी लोग लखना देवी मंदिर के दर्शन करने के लिए पिनहाट-आगरा से आ रहे थे। उन्होंने बताया कि अभी मृतकों की पहचान नहीं हो सकी है। थोड़ी देर में पहचान हो जाएगी। सभी घायलों को पहले इलाज मुहैया कराया जा रहा है।
घायलों का आरोप है कि उन्हें सामने से आ रहे किसी ट्रक ने टक्कर मारी। जिसके बाद डीसीएम अनियंत्रित होकर खाई मेें जा गिरी। वहीं प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि डीसीएम की रफ्तार तेज थी। ड्राइवर मोड़ पर गाड़ी को संभाल नहीं सका। जिससे असंतुलित होकर डीसीएम पलट गई और खाई में जा गिरी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.