लखनऊ: प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए योगी सरकार पूरी तरह से मुस्तैद है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार रात वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करके जिलाधिकारियों को महत्वपूर्ण निर्देश दिए. इसके साथ ही उन्होंने चिकित्सा शिक्षा मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को जिलों का दौरा करने के निर्देश दिए. साथ ही सीएम योगी ने कहा कि जरूरत पड़ने पर वह खुद जिलों के दौरे पर जाएंगे. इसके साथ ही सीएम शासन के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वह जिलों से समन्वय बनाकर काम करें, ताकि कोरोना का हराया जा सके.
कोरोना के लिए बेहतर प्रबंध किए जाएं
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए बेहतर प्रबन्धन पर बल दिया है. उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित रखने और इस महामारी के इलाज के लिए प्रदेश में सभी संसाधन उपलब्ध हैं. उन्होंने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गोरखपुर, मेरठ, गौतमबुद्धनगर, झांसी, बरेली, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर और मुरादाबाद के जिलाधिकारियों से कोविड-19 के उपचार के सम्बन्ध में की जा रही कार्रवाई की जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिए.
‘चिकित्सा शिक्षा मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री करें जिलों का दौरा’
मुख्यमंत्री ने चिकित्सा शिक्षा मंत्री और स्वास्थ्य मंत्री से जिलों का दौरा कर स्वास्थ्य व्यवस्था की समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं. सीएम कहा कि मंत्रियों के दौरे के दौरान चिकित्सा शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी भी उपस्थित रहें.
कोरोना वैक्सीन की एक भी डोज खराब न हो
इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना टीकाकरण का कार्य सुचारु ढंग से संचालित किया जाए. शासन का प्रयास प्रतिदिन 5 से 7 लाख वैक्सीन उपलब्ध कराने की है. यह सुनिश्चित किया जाए कि वैक्सीन की एक भी डोज वेस्टेज न होने पाए. इण्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर के माध्यम से ऐसी व्यवस्था बनायी जाए, जिससे वैक्सीन की उपलब्धता के अनुरूप ही वैक्सीनेशन के लिए लोगों को बुलाया जा सके.
सार्वजनिक स्थानों पर एकत्र न हो भीड़
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में विशेष सावधानी बरतनी आवश्यक है. इसे ध्यान में रखकर यह सुनिश्चित किया जाए कि सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ एकत्र न होने पाए. सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क की अनिवार्यता प्रत्येक दशा में सुनिश्चित की जाए. इस सम्बन्ध में इन्फोर्समेंट की प्रभावी कार्रवाई की जाए. उन्होंने अपर मुख्य सचिव गृह और पुलिस महानिदेशक को जिला स्तरीय पुलिस अधिकारियों के साथ संवाद करके मास्क की अनिवार्यता के सम्बन्ध में जरूरी दिशा-निर्देश देने को कहा है. उन्होंने कहा कि प्रवर्तन की कार्रवाई सद्भावपूर्ण ढंग से की जाए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पब्लिक एड्रेस सिस्टम हर चौराहे पर कार्यशील रहे. होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों से निरन्तर संवाद बनाए रखा जाए और उनकी माॅनीटरिंग की जाए. सार्वजनिक कार्यक्रम के लिए खुले स्थान पर 200 और बन्द जगह पर 100 से अधिक लोग एकत्र न हों.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.