लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ रहा है. इस दौरान त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का नामांकन भी शुरू हो चुका है. इसको देखते हुए शासन ने कोरोना की नई गाइडलाइन जारी की है. इसके तहत अब 5 लोग एक जगह एकत्र नहीं हो सकते हैं. बड़ी सभा करने पर भी पाबंदी लगा दी गई है. बिना अनुमति के कोई सभा नहीं हो सकेगी. किसी भी कार्यक्रम में 10 वर्ष से छोटे बच्चे और 60 वर्ष से ऊपर के बुजुर्ग भी शामिल नहीं हो सकेंगे. ऐसा इसलिए किया जा रहा है, जिसे लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाया जा सके. दूसरी तरफ पंचायत चुनाव में इस तरह की पाबंदियों से चुनाव और फीका लगने लगा है.
गाइड लाइन का पंचायत चुनाव पर असर
त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए पूरे प्रदेश में चुनाव प्रचार जोरों पर चल रहा है. दूसरी तरफ कोविड-19 दूसरी लहर का संक्रमण भी जारी है. ऐसे में बढ़ते हुए संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिए शासन ने नई गाइडलाइन जारी की है. पंचायत चुनाव को देखते हुए धारा 144 भी लगाई गई है. इसके तहत अब 5 लोग से ज्यादा एक जगह पर एकत्र हो सकेंगे. न ही बड़ी सभा का आयोजन हो सकेगा. दूसरी तरफ इसका प्रभाव भी देखने को मिल रहा है. पंचायत चुनाव की प्रचार में होने वाली भीड़-भाड़ अब नहीं दिखाई दे रही है.
बच्चे और बुजुर्ग नहीं हो सकेंगे शामिल
कोविड-19 नियमों को देखते हुए शासन के द्वारा गाइडलाइन जारी की गई है. इससे पंचायत चुनाव में होने वाली सभाओं और नुक्कड़ सभाओं में ज्यादा भीड़ एकत्रित नहीं हो सकेगी. वहीं 10 साल से कम उम्र के बच्चे और 60 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्ग शामिल नहीं हो सकेंगे.
बच्चे नहीं होंगे शामिल
अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमरपाल सिंह ने बताया कि शासन से जारी हुई गाइडलाइन के मुताबिक अब पंचायत चुनाव में 5 लोगों से ज्यादा की भीड़ नहीं जुट सकेगी. वहीं सभाओं में 10 साल से कम उम्र के बच्चे और 60 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों की शामिल होने पर भी रोक लगाई है.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.