लखनऊ: प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों को लेकर भाजपा ने शुक्रवार को अपने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने पंचायत चुनाव से जुडे़ पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में प्रत्याशियों के नामों पर चर्चा की. इसके बाद 819 प्रत्याशियों की पहली सूची जारी की गयी है. इस सूची में पूर्व मंत्री और पूर्व सांसद दद्दन मिश्रा को भी पार्टी ने चुनाव मैदान में उतारा है. वह श्रावस्ती जिले में गिलौला चतुर्थ वार्ड से चुनाव लड़ेंगे.

पूर्व सांसद दद्दन मिश्रा 2007 में बसपा के टिकट पर श्रावस्ती जिले की भिनगा विधानसभा सीट से चुनाव जीते थे. बसपा की मायावती सरकार में उन्हें मंत्री बनाया गया था. 2012 में उन्होंने बसपा से इस्तीफा देकर भाजपा की सदस्यता ग्रहण की. जिसके बाद वह 2012 के विधानसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर चुनावी मैदान में उतरे, लेकिन हार गए. इसके बाद 2014 के लोकसभा चुनावों में भाजपा के टिकट पर जीत हासिल की, लेकिन 2019 का लोकसभा चुनाव करीब ढाई हजार मतों से हार गए थे. अब दद्दन मिश्रा पंचायत चुनावों में भाग्य आजमाने जा रहे हैं.

उम्मीदवारों की घोषणा के साथ ही चुनावी तैयारी में जुटी भाजपा
पंचायत चुनाव के लिए उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करने के बाद प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की अध्यक्षता में वर्चुअल बैठक हुई. वर्चुअल बैठक में पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष व पंचायत चुनाव के प्रभारी विजय बहादुर पाठक सहित क्षेत्रीय अध्यक्ष व जिला अध्यक्ष शामिल हुए.

‘प्रत्येक कार्यकर्ता खुद को प्रत्याशी मानकर पंचायत में काम करेगा’
प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सभी चुनाव महत्वपूर्ण होते हैं. इसलिए हमें पूरे मनोयोग से पार्टी की जीत के संकल्प के साथ पंचायत चुनाव में भी कार्य करना है. उन्होंने कहा कि प्रत्येक वार्ड में युवा, महिला, पिछड़ा व अनुसूचित वर्ग की बैठक करना है. संगठन को चुनाव लड़ना है. प्रत्येक कार्यकर्ता खुद को प्रत्याशी मानकर चुनाव लडे़. जिले के जनप्रतिनिधि, पार्टी पदाधिकारियों और प्रमुख नेता योजनापूर्वक पंचायत चुनाव में काम करें. समाज के सभी वर्गोें को साथ लेकर सभी गांवों में प्रत्याशी का भ्रमण व सम्पर्क अभियान शुरू करने की योजना रचना बनायें. प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि ग्राम/बूथ स्तर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को सक्रिय रूप में पंचायत चुनाव में अपनी भूमिका का निर्वहन करना चाहिए. पंचायत चुनाव में पार्टी पदाधिकारी, मोर्चा, प्रकोष्ठों के पदाधिकारी, प्रमुख नेताओं व कार्यकर्ताओं को ग्राम स्तर तक जिम्मेदारी सौंपते हुए पार्टी की जीत के लिए कार्य करना चाहिए.

पार्टी के स्थापना दिवस पर बूथों पर जाएगी भाजपा
स्वतंत्रदेव सिंह ने कहा कि छह अप्रैल को पार्टी के स्थापना दिवस पर बूथ स्तर पर बूथ अध्यक्ष और बूथ समिति के सदस्य निश्चित रूप से अपने घर पर पार्टी का झण्डा लगाएं. बूथों पर पार्टी का स्थापना दिवस मनाएं. जिला व मण्डल स्तर पर भी पार्टी के स्थापना दिवस पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए. पंचायत चुनाव में जीत पक्की करने के लिए प्रत्येक गांव के प्रत्येक घर तक पहुंचना है. घर-घर सम्पर्क की योजना के साथ आम मतदाता तक सीधे पहुंचकर पार्टी को विजयी बनाने की अपील की जाए.

पार्टी की हर दिन होगी बैठक
भाजपा पंचायत चुनाव के दौरान प्रतिदिन जिला, ब्लाक और ग्राम स्तर पर चुनाव की संचालन समिति की बैठक करेगी. साथ ही सेक्टर और मण्डल की टीम को पूरी तरह से सक्रिय रखा जाएगा. प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा के प्रत्येक कार्यकर्ता को पूरी ताकत के साथ पंचायत चुनाव में लगना है.

नामांकन में मौजूद रहेंगे सांसद विधायक
बैठक का संचालन पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पंचायत चुनाव के प्रदेश प्रभारी विजय बहादुर पाठक ने किया. पाठक ने बताया प्रथम चरण के 18 जिलों और दूसरे चरण के दो जिलों के पार्टी प्रत्याशियों की घोषणा की गई है. पार्टी द्वारा घोषित किए गए उम्मीदवारों के नामांकन प्रपत्र में कोई त्रुटि न हो, इसके लिए विधि प्रकोष्ठ से जुडे़ अधिवक्ताओं को जिम्मेदारी सौंपने पर चर्चा हुई. साथ ही तय हुआ कि पार्टी प्रत्याशियों के नामांकन में स्थानीय जनप्रतिनिधि, पार्टी पदाधिकारी व अन्य प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे. इसकी भी योजना रचना बनाई गई.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.